मुश्किल में श्रीलंकाई फिरकी गेंदबाज, 10 माह में दूसरी बार शिकायत, लग सकता है ban

Last Updated: मंगलवार, 20 अगस्त 2019 (21:51 IST)
नई दिल्ली। श्रीलंकाई ऑफ स्पिनर एकिला धनंजय की मुश्किलें कम होने का नाम ही नहीं ले रही हैं। धनंजय के संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन की पिछले 10 महीनों में दूसरी बार शिकायत की गई है।
लग सकता है प्रतिबंध : धनंजय को अब 12 दिनों के अंदर बायोमेकानिक टेस्ट देना होगा। अगर वे इस टेस्ट में पास होने में विफल रहते हैं तो उन्हें 1 साल के प्रतिबंध का सामना करना पड़ सकता है। आईसीसी के गेंदबाजी एक्शन के नियम के मुताबिक अगर कोई गेंदबाज दो वर्षों में दो बार बायोमेकानिक टेस्ट में फेल होता है तो उसे प्रतिबंध का सामना करना पड़ता है।

2018 में भी मिली थी सजा : धनंजय पर दिसंबर 2018 में संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन को लेकर प्रतिबंध लग चुका है। निलंबन खत्म होने के बाद यह पहला टेस्ट मैच था। उन्होंने इस मैच की पहली पारी में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए 80 रन देकर पांच विकेट झटके थे।
कमजोर हो सकता है स्पिन अटैक : इस गेंदबाज पर अगर एक बार फिर प्रतिबंध लगाया जाता है तो यह उनके करियर के लिए काफी चिंता की बात होगी। उनके अलावा श्रीलंका टीम के लिए भी यह एक बड़ा झटका साबित होगा। श्रीलंका को अपने अगले छह टेस्ट मैच एशिया में खेलने है और ऐसे में धनंजय के टीम से बाहर रहने की स्थिति में श्रीलंका का स्पिन अटैक कमजोर हो सकता है।

विलियम्सन की भी शिकायत : धनंजय के अलावा न्यूजीलैंड के कप्तान के गेंदबाजी एक्शन की भी शिकायत की गई है। विलियम्सन ने श्रीलंका के खिलाफ गाले टेस्ट में तीन ओवर गेंदबाजी की थी। विलियम्सन की संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन की शिकायत इससे पहले वर्ष 2014 में भी की जा चुकी है। हालांकि वह टीम के फुल टाइम गेंदबाजी नहीं है। फोटो सौजन्य : ट्‍विटर

 

और भी पढ़ें :