मंगलवार, 31 जनवरी 2023
  1. धर्म-संसार
  2. ज्योतिष
  3. लाल किताब
  4. Sharadiya navratri lal kitab ke achuk upay
Written By
Last Updated: सोमवार, 26 सितम्बर 2022 (19:08 IST)

नवरात्रि में करें लाल किताब के 9 अचूक उपाय, माता हो जाएंगी प्रसन्न

Lal kitab ke achuk upay : शारदीय नवरात्रि का त्योहार मनाया जा रहा है। आश्‍विन माह की यह नवरात्रि सबसे महत्वपूर्ण मानी जाती है। ऐसे में इस दौरान लाल किताब के 9 ऐसे उपाय कर लें जिससे आपकी जिंदगी के संकट दूर होकर सुख और समृद्धि बढ़े और साथ ही माता दुर्गा का आपका आशीर्वाद भी मिले। आओ जानते हैं लाल किताब के अचूक उपाय।
 
 
नवरात्रि के दौरान आजमाएं लाल किताब के अचूक उपाय | Navratri ke doran aajmaye lal kitab ke achuk upay
 
लाल किताब के उपाय (lal kitab ke achuk upay):
1. दुर्गा की भक्ति : बुध से हमारा व्यापार और नौकरी पर प्रभाव पड़ता। बुध के सभी तरह के कष्ट से बचने के लिए शक्ति की ही उपासना की जाती है। लाल किताब अनुसार दुर्गा की भक्ति करने से बुध ग्रह से उत्पन्न सभी तरह के दोष मिट जाते हैं। खराब बुध अच्छा फल देने लगता है। खराब बुध से नौकरी और व्यापार में नुकसान होने लगता है।
 
2. नंगे पैर जाएं नौ दिनों तक मंदिर : नवरात्रि के 9 दिनों तक रोज नग्न पैर दुर्गा के मंदिर जाएं। दुर्गा चालीसा और दुर्गा सप्तसती का पाठ करें। माता का मं‍त्र ॐ दुर्ग दुर्गाय नम: का जाप करें।
 
3. इनको रखें खुश : बहन, बेटी, बुआ, साली और कन्याओं को खुश रखें तथा उनसे आशीर्वाद लें। बेटी, बहन, बुआ और साली का अपमान ना करें।
 
4. करें ये दान : दुर्गा माता के मंदिर में जाएं और उन्हें हरे रंग की चूड़ियां चढ़ाएं या 9 कन्याओं को हरे रंग का रुमाल बांटें।
5. नाक छिदवाएं : यदि आपका बुद्ध छठे या आठवें भाव में बैठकर बुरा फल दे रहा है तो बुधवार को नाक छिनवाकर दूसरे दिन गुरु का दान करें और नाक में 43 दिन तक चांदी का तार डालकर रखें। लेकिन यह कार्य किसी लाल किताब के विशेषज्ञ से सलाह लेकर ही करें।
 
6. गाय को चारा खिलाएं : नवरात्रि में हर दिन गाय को हरा चारा खिलाएं। खासकर बुधवार को जरूर खिलाएंऐ।
 
7. तुलसी का पत्ता खाएं : बुधवार के दिन तुलसी का गिरा हुआ पत्ता धोकर खाना बहुत शुभ होता है। सबसे जरूरी यह कि झूठ ना बोलें। 
 
8. कन्या भोज कराएं : नौ दिनों तक रोज कन्या भोज कराएं या व्रत के उद्यापन वाले दिन 9 कन्याओं को भोजन कराकर उन्हें दान दक्षिणा दें।
 
9. रुमाल रखें या साबुत मूंग दान करें : अपने साथ हरा रुमाल जरूर रखें। मंदिर में साबुत हरे मूंग का दान करें।
ये भी पढ़ें
ब्रह्मचारिणी मां की कथा और मंत्र क्या है?