धोनी ने माना ज्यादा करीब जा सकता था मैच, मॉर्गन ने हार का बताया यह कारण

Last Updated: गुरुवार, 22 अप्रैल 2021 (16:30 IST)
मुंबई:के बुधवार को यहां इंडियन प्रीमियर लीग के इस सत्र में लगातार तीसरी जीत दर्ज करने के बाद कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि के खिलाफ मुकाबले में अगर 20 ओवर पूरे होते तो यह शायद करीबी मुकाबला होता लेकिन जीतने वाली टीम ने निश्चित रूप से रणनीति का अच्छी तरह कार्यान्वयन किया।

चेन्नई सुपर किंग्स ने 221 रन का चुनौतीपूर्ण लक्ष्य कोलकाता नाइट राइडर्स के सामने रखा जो 19.1 ओवर में 202 रन पर सिमट गयी। धोनी ने मैच के बाद मुस्कुराते हुए कहा, ‘‘मुझे लगता है कि इस तरह के मैच में यह मेरे लिये (बतौर कप्तान) आसान हो जाता है क्योंकि 15वें से 16वें ओवर के बाद मुकाबला तेज गेंदबाज और बल्लेबाज के बीच होता है। जो टीम जीती, शायद उसने रणनीति का कार्यान्वयन अच्छी तरह से किया। लेकिन अगर 20 ओवर पूरे हो गये होते तो यह ज्यादा करीबी मुकाबला होता। विपक्षी टीम को सम्मान देना भी अहम है। ’’
उन्होंने कहा, ‘‘प्रत्येक आईपीएल टीम में ‘बिग हिटर’ हैं। मैंने टीम के खिलाड़ियों से कह दिया था, अच्छा स्कोर बना दिया है लेकिन हमें विपक्षी टीम को भी सम्मान देना होगा। ’’

यह पूछने पर कि आंद्रे रसेल को रणनीति के तहत बोल्ड किया गया तो उन्होंने कहा, ‘‘नहीं। ’’रूतुराज गायकवाड़ ने इस मैच में फार्म में वापसी की, इस पर धोनी ने कहा, ‘‘रूतु ने पिछले आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन किया था। इस बार वह अच्छा नहीं कर रहा था लेकिन वह अच्छा कर रहा है। ’’

फाफ डुप्लेसी को ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ चुना गया जिन्होंने नाबाद 95 रन की पारी खेली। उन्होंने कहा, ‘‘यह काफी आक्रामक पारी रही। आज मैं तकनीकी रूप से बेहतर महसूस कर रहा था। यह सिर्फ लय की बात है। ’’

दीपक चाहर ने फिर चेन्नई सुपर किंग्स के लिये शानदार गेंदबाजी गेंदबाजी की और शुरूआती चार विकेट झटके। उन्होंने कहा, ‘‘मेरी कोशिश थी कि मैं लगातार एक लाइन-लेंथ से गेंदबाज़ी करूं। पिछला सत्र अच्छा नहीं रहा था। खुश हूं कि मैंने चार विकेट लिये। ’’
कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान इयोन ने मैच के बाद कहा, “ आंद्रे रसेल और दिनेश कार्तिक ने एक साझेदारी की और यहां की पिच पर साझेदारी को राेकना बहुत मुश्किल होता है, क्योेंकि क्रीज पर जमे हुए खिलाड़ी यहां की परिस्थितियों का अच्छी तरह से फायदा उठाते हैं। इसके बाद पैट कमिंस ने जिस तरह से क्रिकेट खेला उसने हमें अंत तक मैच में बनाए रखा। हमारे मध्य और निचले क्रम से जबरदस्त फाइटबैक देखने को मिला, जिसके बारे में सब बात करते हैं।

शुरुआती पांच ओवरों में हमारी बल्लेबाजी खराब रही। अगर हमने एक साझेदारी बनाई होती और इन शुरुआती ओवरों का फायदा उठाया होता तो हम बीच के ओवरों में जाते-जाते एक मजबूत स्थिति में होते। खैर नए मैदान और विभिन्न चुनौतियों में खेल कर अच्छा लगा। हमारी बल्लेबाजी पर वापस अगर नजर घुमाई जाए तो मुझे नहीं लगता कि इसमें बहुत बड़ी त्रुटि थी, लेकिन हमें अगले मैच में अपने गेंदबाजों को लेकर थोड़ा विचार विमर्श करना होगा। ”

केकेआर के कप्तान ने कहा, “ 220 का लक्ष्य मिलना और दूसरी पारी में शुरुआती पांच विकेट बहुत जल्दी गिरने के बावजूद उसके करीब पहुंचना प्रशंसनीय है। योजना के क्रियान्वयन को लेकर गेंदबाजों के साथ बातचीत करनी होगी। यह जीत और हार में बड़ा अंतर खड़ा करता है, इसलिए इस ओर ध्यान देना होगा। आंद्रे रसेल जब इस तरह के फॉर्म में होते हैं तो वह किसी भी टूर्नामेंट में अपने दम पर मुकाबले जिता सकते हैं, खासतौर पर तब जब वह गेंद को इस तरह से मार रहे हों। यह हमारे लिए बहुत अच्छा है कि वह इस तरह के फॉर्म में हैं, लेकिन यह निराशाजनक है कि हम में से कोई भी खिलाड़ी उनकी मदद नहीं कर सका, जिससे यकीनन रसेल निराश होंगे। ”

केकेआर के कप्तान पर धीमी ओवर गति के लिये जुर्माना

कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के कप्तान इयोन मोर्गन पर चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के खिलाफ इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) मैच के दौरान धीमी ओवर गति रखने के लिये 12 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है।

सीएसके ने फाफ डुप्लेसिस के नाबाद 95 रन और दीपक चाहर के चार विकेट की मदद से बुधवार की रात को केकेआर पर 18 रन से जीत दर्ज की थी। इस बड़े स्कोर वाले मैच में सीएसके ने तीन विकेट पर 220 रन बनाये। इसके जवाब में केकेआर 202 रन पर आउट हो गया।

आईपीएल ने बयान में कहा, ‘‘कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान इयोन मोर्गन पर चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ 21 अप्रैल को वानखेड़े स्टेडिमय में आईपीएल मैच के दौरान धीमी ओवर गति के लिये जुर्माना लगाया गया है।

बयान के अनुसार, ' टीम का आईपीएल आचार संहिता के तहत इस सत्र का यह धीमी ओवर गति से जुड़ा पहला मामला है इसलिए मोर्गन पर 12 लाख रुपये का जुर्माना किया गया है।' आईपीएल के नियमों के अनुसार धीमी ओवर गति के पहले मामले में टीम के कप्तान पर 12 लाख रुपये का जुर्माना किया जाता है।




और भी पढ़ें :