धोनी ने रिव्यू और कीपिंग से दिखाया दम लेकिन जल्द ही करना होगा बल्ले से भी कमाल

Mahendra Singh Dhoni
Last Updated: सोमवार, 20 सितम्बर 2021 (15:43 IST)
के खिलाफ कई बार मुश्किलों में दिखी लेकिन उनके पास महेंद्र सिंह धोनी जैसा कप्तान था जो विकटों के आगे भले ही फेल हो गया लेकिन विकटों के पीछे उसने अपनी चपलता बनाए रखी।

चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया लेकिन उसकी शुरुआत खराब रही और उसने छह ओवर के पॉवरप्ले में अपने चार विकेट मात्र 24 रन तक गंवा दिए। महेंद्र सिंह धोनी भी पारी को संभालने में नाकाम रहे और सिर्फ 3 रन बनाकर ही मिल्ने की गेंद को चौका लगाने के चक्कर में बोल्ट को कैच थमा बैठे। बल्लेबाजी में धोनी के लिए यह आईपीएल वैसे भी खराब जा रहा है।

हालांकि जब ऋतुराज गायकवाड़ के 88 रनों के बाद चेन्नई 156 रनों तक पहुंचा तो पहला विकेट धोनी की सूझबूझ के कारण ही चेन्नई को मिला। दीपक चाहर की एक गेंद क्विंटन डि कॉक के पैड पर लगी। अपील होते साथ ही चाहर तो जश्न भी मनाने लग गए थे लेकिन अंपायर की उंगली नहीं उठी।
MS Dhoni

महेंद्र सिंह धोनी ने इस पर रिव्यू लिया और बॉल ट्रैकिंग में कॉक आउट करार दिए गए। क्विंटन डि कॉक तेजी से रन बना रहे थे अगर धोनी इस पर रिव्यू ना लेते तो मैच का नतीजा कुछ और भी हो सकता था। इससे पहले हेजलवुड की गेंद पर कॉक का कैच गायकवाड़ ने भी छोड़ा था। कॉक 12 गेंदो पर 18 रन बनाकर आउट हुए।

इसके बाद धोनी ने विकेट के पीछे अपनी चपलता भी दिखाई। क्रुणाल पांड्या तेजी से रन लेना चाह रहे थे लेकिन ब्रावो के एक थ्रो को धोनी ने जल्दी कलेक्ट कर गिल्लियां बिखेर दी। क्रुणाल पांड्या की डाइव भी उन्हें रन आउट होने से नहीं बचा पायी।

आगे बल्ले से भी पड़ेगी धोनी की जरुरत

रिव्यू और कीपिंग में तो धोनी ने दम दिखाया लेकिन आगे उन्हें अपने बल्ले से भी कमाल दिखाना होगा। क्रिकइंफो के कार्यक्रम 'टाईम आउट' में वेस्टइंडीज़ के पूर्व दिग्गज इयान बिशप ने इसके लिए चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को तैयार रहने और कमर कसने की सलाह दी।उन्होंने कहा, "फार्म और फिटनेस से जूझ रही चेन्नई सुपर किंग्स के लिए एक बार फिर महेंद्र सिंह धोनी को ख़ुद पर ज़्यादा ज़िम्मेदारी लेनी होगी, इसके लिए उन्हें तैयार रहना चाहिए।"

इसी कार्यक्रम में पूर्व भारतीय बल्लेबाज़ संजय मांजरेकर भी मौजूद थे, उन्होंने भी माना कि धोनी पर ज़्यादा ज़िम्मेदारी रहेगी साथ ही उन्होंने चेन्नई के खिलाड़ियों की बढ़ती उम्र की भी बात की।बिशप ने कहा, "चेन्नई में कई खिलाड़ियों की उम्र दूसरी टीमों की अपेक्षा ज़्यादा है, लेकिन अच्छी बात ये है कि महेंद्र सिंह धोनी इसे बहुत शानदार तरीक़े से समझते हैं और पिछले चरण में हमने देखा था कि उन्होंने उसी हिसाब से बल्लेबाज़ी क्रम में भी फेरबदल किए थे। मुझे लगता है कि इस बार भी अगर अनुभवी बल्लेबाज़ों की गैरमौजूदगी में धोनी पर ज़िम्मेदारी ज़्यादा आ जाएगी।"

रुतुराज और ब्रावो ने हमें अपेक्षा से अधिक स्कोर तक पहुंचाया : धोनी

पांच बार की आईपीएल विजेता मुंबई इंडियंस के खिलाफ यहां रविवार को आईपीएल 2021 के दूसरे चरण के पहले मैच में जीत के बाद चेन्नई सुपर किंग्स (सीएके) के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि रुतुराज गायकवाड़ और ड्वेन ब्रावो ने टीम को अपेक्षा से अधिक स्कोर तक पहुंचाया, जिसने टीम को जीत दिलाई। एक बल्लेबाज अंत तक खेला और दूसरे ने अच्छा योगदान दिया।

धोनी ने मैच के बाद कहा, “ 30 रन पर चार विकेट की स्थिति में हर टीम स्कोरबोर्ड पर सम्मानजनक स्कोर तक लगाना चाहती है, लेकिन रुतुराज, जडेजा और ब्रावो ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए हमें चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंचाया। 140 के स्कोर तक पर पहुंचना अच्छा और 160 तक पहुंचना उससे भी अच्छा था। विकेट दो गति वाला था। अधिकतर बल्लेबाज शुरुआत में धीमा विकेट होने के कारण आउट हुए। इसके कोई दो राय नहीं है कि अगर आप बाद में बल्लेबाजी करने आते हैं ताे आप हिट करना चाहते हैं, इसलिए हमने विकेट गंवाए। ”

CSK के कप्तान ने कहा, “ मैं आठवें या नौवें ओवर तक आराम से खेलता और फिर यहां से पारी में तेजी लाता। आप हमेशा सोचते हैं कि आप शुरुआत में अच्छे हिट लगा सकते हैं, लेकिन विकेट गिरने के साथ जोखिम बढ़ जाता है। आपको यह देखने की जरूरत है कि विपक्षी खेमे में कितने तेज गेंदबाज हैं और वे अपने ओवरों को फेंकने में कितना समय लेते हैं। अगर कोई तेज गेंदबाज लंबा रन-अप लेता है या बहुत समय बर्बाद करता है तो यह कप्तानों के लिए कठिन होता है। यह स्थिति पर निर्भर करता है। बहरहाल रायुडू की कोहनी ठीक है। उनके पास अगले मैच के लिए चार दिन हैं और इससे उन्हें मदद मिलनी चाहिए।



और भी पढ़ें :