Side Effects In Children : बच्चों को कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद दिख सकते हैं ये साइड इफेक्ट

Last Updated: गुरुवार, 6 जनवरी 2022 (13:05 IST)
हमें फॉलो करें
देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर का दौरा जारी है। इस बीच वैक्सीनेशन की रफ्तार को और तेज करने पर जोर दिया जा रहा है। वहीं 3 जनवरी से देश में 15 से 18 साल के बच्चों को भी कोविड वैक्सीन लगाई जा रही है। बच्चों में वैक्सीनेशन के बाद हल्के लक्षण नजर आ रहे

हैं, जिसे लेकर पेरेंट्स को घबराने की जरूरत नहीं है। आइए जानते हैं वैक्सीनेशन के बाद बच्चों को किस तरह के साइड इफेक्ट दिख सकते हैं -


हाथ में जहां पर वैक्सीन लगाई गई है तो बच्चों को उस जगह पर लाल निशान के साथ दर्द महसूस हो सकता है. सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड
प्रिवेंशन (CDC) के मुताबिक...

दर्द होना - जिस हाथ पर वैक्सीन लगाई गई है उस हाथ में हल्का दर्द और लाल निशान हो सकता है। सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन(CDC) के अनुसार वैक्सीनेशन एरिया पर दर्द को कम करने के लिए टीकाकरण वाले एरिया पर नरम कपड़ा रख सकते हैं।



बेहोशी - वैक्सीनेशन के बाद बच्चों में बेहोशी के लक्षण देखे जा सकते हैं। CDC के मुताबिक वैक्सीनेशन के बाद बच्चों को बैठाकर या लेटा कर रखें। इससे उन्‍हें आराम मिलेगा। डॉक्टर वैक्सीनेटेड लोगों को सेंटर पर इसलिए लोगों को रूकने के लिए कहते हैं।

हल्‍का बुखार होना - जिस तरह से वयस्‍क और बुजुर्ग लोगों में बुखार के हल्‍के लक्षण देखे गए थे उसी तरह बच्चों में देखे जा सकते हैं। ऐसे में टेबलेट देने की सलाह दी गई थी। लेकिन बच्‍चों को किसी भी प्रकार की पेन किलर नहीं देना है। भारत बायोटेक ने एक आधिकारिक बयान जारी

करते हुए कहा कि वैक्सीन लेने के वाले बहुत से बच्चों को 500 एम जी की 3 पेरासिटामोल लेने की सलाह दी जा रही है। वैक्सीन के बादपैन किलर लेने की जरूरत नहीं है। एक-दो दिन में लक्षण अपने आप ठीक हो जाएंगे। सिर्फ डॉक्टर कहते हैं तो ही वैक्सीन लें। अन्यथा नहीं।

बदन दर्द - वयस्‍क की तरह बच्‍चों में भी बदन दर्द के लक्षण नजर आ सकते हैं। CDC के मुताबिक घबराएं नहीं, आराम करें, और लिक्विड पदार्थ का सेवन करें। ध्यान रहें बाहर का कुछ भी पैक्ड पेय नहीं पीए।



और भी पढ़ें :