फादर्स डे कब है, क्यों मनाया जाता है जानिए 10 खास बातें

हर साल फादर्स डे (Father’s Day) जून महीने के तीसरे रविवार को मनाया जाता है। फादर्स डे एक ऐसा अवसर है जो पिताजी को विशेष महसूस कराने और पूरे परिवार के लिए उनके योगदान का एहसान मानने और उन्हें सम्मानित करने का अवसर लेकर आता है और हमें हमारे जीवन में समझाता है।


वैसे तो फादर्स डे विश्व भर में अलग-अलग तारीखों को मनाया जाता है, लेकिन ज्यादातर देश इस दिन को जून के तीसरे रविवार को मनाते हैं। अमेरिका, इंडिया और कनाडा में यह दिन जून के तीसरे रविवार को मनाया जाता है। इस साल डे भारत में 19 जून को मनाया जाएगा।

क्यों मनाया जाता है- दुनिया भर में लोग फादर्स (fathers) डे को पिता को धन्यवाद देने, सम्मानित करने और उन्हें श्रद्धांजलि देने के अवसर के रूप में इस दिन को मनाते हैं। इस दिन बच्चे अपने पिता को उनका सबसे लोकप्रिय तोहफा देते हैं और उन्हें खास महसूस कराने की कोशिश करते हैं।

फादर्स डे सबसे पहले पश्चिम वर्जीनिया के फेयरमोंट में 5 जुलाई 1908 को मनाया गया था। पहली बार फादर्स डे 19 जून 1910 को अमेरिका में Ms. Sonora Smart Dodd के पिता को सम्मानित करने के लिए मनाया गया था। Sonora के पिता (विलियम्स स्मार्ट) William's Smart ग्रह युद्ध अनुभवी थे। उनकी पत्नी की मृत्यु उनके छठे बच्चे को जन्म देने के समय हुई थी। उन्होंने अपनी पत्नी के गुजर जाने के बाद अकेले ही अपने 6 बच्चों को पाल-पोस कर बड़ा किया।
विलियम्स स्मार्ट के गुजर जाने के बाद उनकी बेटी (सोनोरा) Sonora चाहती थी की, जिस दिन उसके पिता विलियम्स की मृत्यु (5 जून) हुई थी उस दिन फादर्स डे मनाया जाए। लेकिन कुछ कारणों की वजह से यह दिन जून के तीसरे रविवार को कर दिया गया था। तभी से, लोग विश्व भर में जून के तीसरे रविवार को फादर्स डे मनाते हैं।
10 खास बातें-


1. जिस इंसान ने जिंदगी भर आपका साथ दिया और जीवन में आपको सही-गलत की पहचान करना सिखाया। उसके सामने ऐसा कुछ व्यक्त करें कि उसे अपने संस्कारों पर गर्व हो।

2. यह इसलिए भी जरूरी है कि आपमें संस्कारों को रोपने के साथ ही सफलता की ऊंचाई तक पहुंचाने में पिता की भूमिका सबसे अहम है और उन्हें बेस्ट पापा का अहसास कराने के लिए यह सबसे बेहतर मौका है।
3. फादर्स डे मनाने का मतलब सिर्फ सेलिब्रेट करना ही नहीं है, बल्कि यह मौका है उन्हें यह बताने का कि उनकी कुर्बानियां कितनी अतुलनीय हैं, उन्हें अहसास दिलाना कि आप उनसे कितना प्यार करते हैं और उनके कितने करीब हैं।

4. एक अच्छी संतान होने के नाते आपका फर्ज है कि आप अपने पिता को यह अहसास दिलाएं कि उनकी परवरिश से ही वह आज एक सफल इंसान बने हैं। इससे बेहतर तोहफा शायद उनके लिए कुछ और नहीं हो सकता।
5. यदि आप बाहर रहते हैं और पापा से नहीं मिल पाते हैं तो इस दिन उनके साथ डिनर पर जाएं और अपनी सफलताओं से उन्हें बेस्ट पापा होने का अहसास कराएं। इसके साथ ही पापा के साथ पुरानी यादें ताजा करें, यह भी उनके लिए काफी यादगार होगा।

6. पिता दिन-रात अपने बच्चों के लिए ही मेहनत करते हैं और उन्हें वे हर खुशी देना चाहते है जो उन्हें भी कभी नहीं मिली।

7. पिता के बिना जीवन अधूरा होता है। जीवन में माता के साथ-साथ पिता का होना अतिआवश्‍यक है।

8. किसी बच्चे के पिता ना होने पर वो अपने आपको कमजोर महसूस करता है तथा उसके जीवन में हमेशा पिता की कमी महसूस होती है।

9. अगर आपके सिर पर पिता का साया है तो आप दुनिया के सबसे खुश इंसान हैं, क्योंकि माता जितनी आपकी फिक्र करती है, पिता भी उससे कहीं अधिक अपने बच्चों का पूरी तरह ध्यान रखते हैं। अत: पिता को सम्मान दें, उनका कहा मानें और उन्हें हमेशा गर्व महसूस कराएं कि वे आपके पिता है।

10. पिता के बिना घर-संसार सभी कुछ अधूरा है, जिस तरह एक घर में माता का होना जरूरी है, वैसे ही पिता का होना उससे भी अधिक जरूरी है, वे सिर्फ पैसा ही नहीं कमाते, बल्कि वे अपने बच्चे को अच्छे संस्कार, व्यावहारिक ज्ञान, रहन-सहन, बोलचाल जीवन के सभी जरूरी समय में पर अपने बच्चों का साथ देकर उनका अच्छे से खयाल रखते हैं।




और भी पढ़ें :