दिवाली पर दीप जलाते समय पढ़ें यह मंत्र, हर संकट का होगा अंत

का द्योतक है, तो प्रकाश ज्ञान का। परमात्मा से हमें संपूर्ण ज्ञान मिले इसीलिए दीप प्रज्वलन
करने की परंपरा है। कोई भी पूजा हो या किसी समारोह का शुभारंभ। समस्त शुभ कार्यों का आरंभ दीप
प्रज्वलन से होता है।


जिस प्रकार दीप की ज्योति हमेशा ऊपर की ओर उठी रहती है, उसी प्रकार मानव
की वृत्ति भी सदा ऊपर ही उठे, यही दीप प्रज्वलन का अर्थ है। अत: समस्त कल्याण की चाह रखने वाले
मनुष्य को दीप जलाते समय यह मंत्र अवश्य पढ़ना चाहिए। निश्चित ही आपका कल्याण होगा।

आगे जानिए कौन-सा मंत्र पढ़ें जलाते समय...

दीप प्रज्वलन के समय इस मंत्र का स्मरण करें :

दीप दर्शन

शुभं करोति कल्याणम् आरोग्यम् धनसंपदा।
शत्रुबुद्धिविनाशाय दीपकाय नमोऽस्तु ते।।


दीपो ज्योति परं ब्रह्म दीपो ज्योतिर्जनार्दन:।




और भी पढ़ें :