इस लेख के लिए टिप्पणियाँ बंद हो गयी है..

टिप्पणियां

VP Misra

चीन की अकल में रहना चाहिए धोखा एक बार तो दिया जा सकता है बार बार नहीं - १९६२ में प्रधान मंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू थे और अब श्री नरेंद्र मोदी - भारतीय सेना भी उस धोखे का बदला लेना चाहती है - मेरी सेना से प्राथना है कि १९६२ में छीना गया आक्षाई छीने का भू भाग तो बापस लेने कि साथ तिब्बत को भी आज़ाद करवा दो जिससे चीन का दिमाक हमेशा नीचे रहे और आदरणीय दलाई लामा भी अपने जीवन के अंतिम पड़ाव में तिब्बत को आज़ाद देखें
X REPORT ABUSE Date 13-08-17 (09:08 PM)

Narendera Chauhan

हम आप की बात से सहमत हैं जय हिन्द वन्देमातरम
X REPORT ABUSE Date 24-08-17 (05:04 PM)

Ritik Dodhiwala

मानसरोवर कभी भी भारत का हिस्सा नहीं था. लेखा लिखने से पहले गूगल कर जानकारी अवश्य ले. https://www.quora.com/Did-India-lose-Kailash-Mansarovar-TO-China-because-of-Nehru
X REPORT ABUSE Date 14-08-17 (03:37 PM)

CHAITANYA GOPAL

यह हज नहीं. हिन्दू अनादि काल से शिव स्थान मानसरोवर जाते थे. .ब्रिटिश चीनी सिख फिर कांग्रेस ने इतिहास की एती की N
X REPORT ABUSE Date 23-08-17 (03:52 AM)

CHAITANYA GOPAL

यह हज नहीं. हिन्दू अनादि काल से शिव स्थान मानसरोवर जाते थे. .ब्रिटिश चीनी सिख फिर कांग्रेस ने इतिहास की एती की N
X REPORT ABUSE Date 23-08-17 (03:52 AM)

Narendra Chauhan

ऋतिक डोढ़ीवाला जी आप ये जानले कि ये तिब्बत का हिस्सा है और तिब्बित हमारा हिस्सा था
X REPORT ABUSE Date 24-08-17 (05:02 PM)

MANISH PANDIT

प्लीज क्लियर योर हिस्ट्री, मानसरोवर वास् पार्ट ऑफ़ इंडिया एंड विल बे रेमें पार्ट ऑफ़ इंडिया.
X REPORT ABUSE Date 08-09-17 (03:00 PM)