0

हनुमान जंयती 2020 : जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विधि, कथा और 5 मंत्र

मंगलवार,अप्रैल 7, 2020
hanuman jayanti 2020
0
1
हनुमान जी का जन्मोत्सव हनुमान जयंती 08 अप्रैल दिन बुधवार को है। हनुमान जी का जन्म चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को चित्रा नक्षत्र और मेष लग्न में हुआ था। हनुमान जयंती पर विधि विधान से पूजा अर्चना कर उनको प्रसन्न कर सकते हैं।
1
2
गोस्वामी तुलसीदासजी सुंदरकांड को लिपिबद्ध करते समय हनुमानजी के गुणों पर विचार कर रहे थे। वे जिस गुण का सोचते, वहीं हनुमानजी में भरपूर दिखाई देता। इसलिए उन्होंने हनुमानजी की स्तुति करते समय उन्हें 'सकल गुण निधानं' कहा है। यह सम्मान पूरे संस्कृत ...
2
3
हनुमानजी की कृपा प्राप्त करने के लिए मंगलवार को तथा शनि महाराज की साढ़े साती, अढैया, दशा, अंतरदशा में कष्ट कम करने के लिए शनिवार को चोला चढ़ाया जाता है।
3
4
जानकार कहते हैं कि तीसरा एंटी क्राइस्ट युद्ध की शुरुआत करेगा। इससे पहले नेपोलियन और हिटलर को नास्त्रेदमस ने एंटी क्राइस्ट कहा था और कहा था कि तीसरा एंटी क्राइस्ट जब आएगा तो 27 साल तक तीसरा विश्वयुद्ध चलेगा। हमने नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी के हिन्दी ...
4
4
5
पंचांग से तिथि, वार, नक्षत्र, योग, करण के आधार पर मुहूर्तों का निर्धारण किया जाता है। इनमें सिद्धि योग, सर्वार्थ सिद्धि योग, गुरु पुष्य योग, रवि पुष्य योग, पुष्कर योग, अमृत सिद्धि योग, राज योग, द्विपुष्कर एवं त्रिपुष्कर यह कुछ शुभ योगों के नाम हैं।
5
6
किसान यह स्वप्न देखे, तो खेत से प्रचुर मात्रा में उपज की उम्मीद कर सकता है। साहसी नाविक को अपनी अगली यात्रा में अनुकूल हवा मिलेगी। प्रत्येक व्यक्ति ऐसा स्वप्न देखकर प्रसन्न होगा। आइए जानें 40 सपनों के अर्थ...
6
7
मूलांक, भाग्यांक और जन्मांक से अंक ज्योतिषाचार्य लोगों का भविष्य बताते हैं। लेकिन हम यहां अंक ज्योतिष से हटकर कुछ और बताना चाहते हैं।
7
8
पूजा साधना करते समय बहुत सी ऐसी बातें हैं जिन पर सामान्यतः हमारा ध्यान नहीं जाता है लेकिन पूजा साधना की दृष्टि से यह बातें अति महत्वपूर्ण हैं...
8
8
9
भारतीय ज्योतिष शास्त्र के 5 अंगों की दैनिक जानकारी पंचांग में दी जाती है। ये अंग तिथि, वार, नक्षत्र, योग, करण हैं।
9
10
त्र मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को भगवान शिव के एकादश रुद्रावतार हनुमान जी का जन्म हुआ है। आइए जानें कि इस दिन आपकी राशि के अनुसार कौन सी उपासना शुभ है। -
10
11
मकर राशि में मंगल, गुरु और शनि, इन तीनों ग्रहों का योग देश-दुनिया के लिए राहत दिलाने वाला रहेगा। जानिए सभी 12 राशियों पर इन 3 ग्रहों का कैसा असर होने वाला है...
11
12
बरकत को हिन्दी में प्रचुरता मान सकते हैं। कुछ लोग इसे प्रभु की कृपा और कुछ इसे लाभ मानते हैं। कुछ इसका अर्थ समृद्धि या सौभाग्य से लगाते हैं। अंग्रेजी में इसे abundance कहते हैं।
12
13
अक्सर हिन्दू धर्म से जुड़े कुछ सवालों को बार-बार पूछा जाता है लेकिन उनके संतोषप्रद उत्तर नहीं मिलते हैं। हम लाए हैं पुराणों से कुछ सटीक जवाब...
13
14
हिन्दू धर्म में समय की बहुत ही वृहत्तर धारणा है। आमतौर पर वर्तमान में सेकंड, मिनट, घंटे, दिन-रात, माह, वर्ष, दशक और शताब्दी तक की ही प्रचलित धारणा है,
14
15
साल में 12 अमावस्या होती हैं। इस दिन 108 बार तुलसी की परिक्रमा करने से मन को शांति की अनुभूति होती है। जो लोग आध्यात्मिक मार्ग पर बढ़ना चाहते हैं उनके लिए भी यह दिन अत्यंत महत्वपूर्ण होता है। आइए जानें साल भर की 12 अमावस कब कब आ रही हैं...
15
16
प्रत्येक मनुष्य का समाज में प्रचलित नाम अंग्रेजी वर्णानुसार लेते हैं। इस नवीन विधि के अनुसार प्रत्येक वर्ण को एक निश्चित अंक दिया गया है। इस प्रकार नाम से संबंधित नामांक हम निकालते हैं।
16
17
अंक ज्योतिष के नौ अंक नौ ग्रहों का प्रतिनिधित्व करते है। कुछ अंक रहस्यमय होने के साथ-साथ खतरनाक और अशुभ भी माने गए हैं।
17
18
मंगल दोष के कारण पति-प‍त्नी में सामंजस्य की कमी रहती है। एक-दूसरे से वैमनस्य रहता है। जीवनसाथी का स्वास्थ्य प्रभावित होता है। आइए जानते हैं 7 सरलतम उपाय....
18
19
विश्व में ऐसे सैंकड़ों लोग हुए हैं जिन्होंने भविष्य के घटनाक्रम और परिवर्तन को लेकर कई भविष्यवाणियां की हैं। बहुतों की भविष्यवाणियां सही साबित हुई है तो बहुतों की गलत। जिनकी भविष्यवाणियां सही साबित हुई है उसके सही साबित होने के कई कारण हैं।
19