बजट सत्र में उठेगा कालेधन का मुद्दा : आडवाणी

नई दिल्ली| Naidunia| पुनः संशोधित रविवार, 11 मार्च 2012 (01:02 IST)
आगामी सोमवार से शुरू हो संसद के सत्र में मुख्य विपक्षी दल भाजपा और एनसीटीसी के मुद्दे पर यूपीए सरकार को घेरेगा। यह संकेत भाजपा संसदीय दल के अध्यक्ष लालकृष्ण आडवाणी ने संवाददाताओं से बातचीत में दिए। पानी के मुद्दे पर आयोजित एक कार्यक्रम के उपरांत आडवाणी ने कहा कि कालेधन के मुद्दे पर यूपीए सरकार को बजट सत्र में श्वेत पत्र जारी कर अपना वादा निभाना चाहिए।


आडवाणी ने कहा कि संसद के पिछले शीतकालीन सत्र में वित्तमंत्री प्रणव मुखर्जी ने कहा था कि बजट सत्र में इस मुद्दे पर सरकार श्वेत पत्र संसद के समक्ष रख सकती है। उन्होंने कहा कि कालेधन का मुद्द महत्वूपर्ण है और विपक्ष इस मुद्दे को अपनी तरह से जोरदार ढंग से उठाएगा। आडवाणी ने कहा कि हमें उम्मीद है कि इस मुद्दे को यूपीए सरकार टालने का प्रयास नहीं करेगी। गौरतलब है कि संसद के शीतकालीन सत्र में आडवाणी ने कालेधन के मुद्दे को संसद में उठाया था। आडवाणी ने कहा कि सरकार को लोकपाल विधेयक संसद में फिर से पेश करना चाहिए क्योंकि पिछले सत्र में यह राज्यसभा से पारित नहीं हो पाया था।


आतंकवाद के मुकाबले के लिए गठित एनसीटीसी के मुद्दे पर आडवाणी ने कहा कि यह मुद्दा राज्यों से जुड़ा है और इस मुद्दे पर लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज पहले ही विपक्ष के मत से लोकसभा अध्यक्ष मीराकुमार को अवगत करा चुकी हैं। आडवाणी ने कहा कि एनसीटीसी का विषय राज्यों के अधिकार से जुड़ा है इसलिए इस मामले में जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए। राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरुण जेटली ने कहा कि महंगाई, भ्रष्टाचार, कालाधन, संघीय ढांचे पर चोट आदि कई महत्वपूर्ण मुद्दे हैं जिनके विषय में सरकार को जवाब देना होगा। भाजपा ने संसद की रणनीति तय करने के लिए रविवार को संसदीय बोर्ड की बैठक बुलाई हैं। इसी दिन राजग घटकों की भी बैठक होगी। विधानसभा चुनाव परिणामों से राजग में उत्साह का माहौल है और पार्टी यूपीए सरकार को घेरने का कोई भी मौका चूकना नहीं चाहती।

और भी पढ़ें : बजट कालेधन