1. खबर-संसार
  2. »
  3. समाचार
  4. »
  5. राष्ट्रीय
Written By वार्ता
पुनः संशोधित गुरुवार, 1 मई 2008 (22:07 IST)

सांसदों का मामला समिति को सौंपा

लोकसभा अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी ने अभूतपूर्व कदम उठाते हुए सदन में अव्यवस्था फैलाने वाले 32 सदस्यों के खिलाफ कार्रवाई करने का मामला विशेषाधिकार समिति को सौंप दिया। इनमें अधिकतर सदस्य विपक्षी राजनीतिक दलों के हैं।

लोकसभा सचिवालय के अनुसार चटर्जी ने यह कदम सदन में बार-बार अव्यवस्था फैलने के कारण उठाया है। विशेषाधिकार समिति सदस्यों के व्यवहार की जाँच कर अपनी रिपोर्ट देगी।

चटर्जी विशेष कर गत 24 अप्रैल की घटना से क्षुब्ध थे जब विपक्षी दलों के सदस्य नारेबाजी करते हुए अध्यक्ष के आसन के सामने आ गए थे। उन्होंने अध्यक्ष के निर्देशों की घोर अवहेलना की थी। उस दिन मूल्य वृद्धि के खिलाफ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के आंदोलन को लेकर संसद के दोनों सदनों में जमकर हंगामा हुआ था।

विपक्षी दलों ने उस दिन संसद परिसर में मानव श्रृंखला बनाकर भी महँगाई पर विरोध व्यक्त किया था। जिन सदस्यों के खिलाफ मामला विशेषाधिकार समिति को सौंपा गया है उनमें भाजपा के शाहनवाज हुसैन, किरन महेश्वरी, खारबेल स्वायीं, पी.एस. गढवी और किशनसिंह सांगवान शामिल हैं।

विपक्ष के अन्य सदस्य हैं - चन्द्रकान्त खैरे और कल्पना रमेश नरहरि, दोनों शिवसेना, रत्न सिंह अजनाला और सुखदेवसिंह लिबरा (दोनों शिरोमणि अकाली दल) तथागत सतपथी (बीजू जनता दल) तथा ब्रजेश पाठक (बहुजन समाज पार्टी) लोकसभा अध्यक्ष ने सदस्यों के खिलाफ यह मामला कल विशेषाधिकार समिति को सौंपा है।