भारत के जोल और नायर के शतक, मैच ड्रॉ

Nayar
विशाखापट्टनम| भाषा|
FILE
विशाखापट्टनम। उदीयमान किशोर बल्लेबाज विजय जोल का अपने पहले प्रथम श्रेणी मैच में और कप्तान अभिषेक नायर की शतकीय पारी भारत 'ए' और न्यूजीलैंड 'ए' के बीच यहां ड्रॉ छूटे पहले मैच के तीसरे और आखिर दिन के आकर्षण रहे।

भारत की अंडर-19 टीम के सदस्य 18 वर्षीय जोल चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिएउतरे। उन्होंने 19 चौकों की मदद से 110 रन की शानदार पारी खेली। नायर ने नाबाद 102 रन बनाए। उनका शतक पूरा होते ही मैच ड्रॉ समाप्त घोषित कर दिया गया। भारत ने तब सात विकेट पर 388 रन बनाए थे।

न्यूजीलैंड 'ए' ने अपनी पहली पारी में 310 रन बनाए थे। मैच के पहले दिन बारिश के कारण खेल नहीं हो पाया था, जिसके कारण दोनों टीमों को एक-एक पारी खेलने का ही मौका मिला। दूसरा मैच दो सितंबर से यहीं खेला जाएगा। भारत ने सुबह एक विकेट पर छह रन से आगे खेलना शुरू किया।
नाइटवाचमैन सर्वजीत लाड्डा (15) के आउट होने के बाद जोल ने प्रथम श्रेणी मैचों में पहली बार क्रीज पर कदम रखा। वे किसी तरह से दबाव में नहीं दिखे और उन्होंने अपने कट, ड्राइव और पुल का शानदार नजारा पेश किया। जोल और पिछले साल अपने पहले पदार्पण मैच में दोहरा शतक जड़ने वाले सलामी बल्लेबाज जीवनजोत सिंह (48) ने दूसरे विकेट के लिए 77 रन की साझेदारी की। लेग स्पिनर ईश सोढ़ी ने जीवनजोत को आउट करके यह साझेदारी तोड़ी।
एस्टल ने 106 रन देकर तीन विकेट लिए लेकिन वे जोल पर अपना प्रभाव नहीं छोड़ पाए। महाराष्ट्र के इस युवा बल्लेबाज ने जल्द ही अपना शतक पूरा किया, लेकिन इसके बाद वे अधिक देर तक नहीं टिक पाए। मध्यम गति के गेंदबाज कारी काचोपा ने उन्हें बोल्ड किया। जोल ने 153 गेंदों का सामना किया।

नायर ने इसके बाद पूरे रूतबे के साथ बल्लेबाजी की और कीवी टीम के लगभग हर गेंदबाज को अपने निशाने पर रखा। इस बीच भारत ने विकेटकीपर, बल्लेबाज मुरलीधरन गौतम (16) और जलज सक्सेना (10) के विकेट गंवाए। मैच के आखिरी क्षणों में सभी को नायर के शतक का इंतजार था। यह ऑलराउंडर आखिर में प्रथम श्रेणी मैचों में 12वां शतक जड़ने में सफल रहा। उन्होंने अपनी पारी में 110 गेंद खेलीं तथा 14 चौके और एक छक्का लगाया।
धवल कुलकर्णी सात रन बनाकर नाबाद रहे। न्यूजीलैंड 'ए' की तरफ से एस्टल ने तीन, सोढ़ी ने दो जबकि डग ब्रेसवेल और काचोपा को एक-एक विकेट मिला। उसके मुख्य गेंदबाज मार्क गिलेस्पी ने 17 ओवर किए लेकिन वे विकेट हासिल करने में नाकाम रहे। (भाषा)



और भी पढ़ें :