'आपत्ति है' पर हिस्सा लेगा ईरान

BBC Hindi| पुनः संशोधित मंगलवार, 15 मार्च 2011 (15:10 IST)
BBC
लंदन ओलिम्पिक का लोगो ‘जायन’ शब्द से मिलने की शिकायतों के बावजूद ने संकेत दिए हैं कि वो 2012 लंदन ओलिम्पिक में हिस्सा ले सकता है। पिछले महीने ही ईरान ने अंतरराष्ट्रीय ओलिम्पिक संघ से शिकायत की थी कि लंदन ओलिम्पिक के लोगो को बदला जाए।

ईरान के सरकारी टेलीविजन 'प्रेस टीवी' ने एक अधिकारी का हवाला देते हुए कहा है कि ईरान अब लंदन ओलिम्पिक में हिस्सा लेगा।

टीवी ने ईरान की ओलिम्पिक आयोजक कमेटी के सचिव बशरम अफशर्जादे ने ईरान के प्रेस टीवी पर कहा, 'ओलिम्पिक खेलों में भाग लेने के हमारे फैसले का ब्रिटेन के राजनितिज्ञों से कोई लेना-देना नहीं है।'
उन्होंने कहा, 'हम अंतरराष्ट्रीय ओलिम्पिक संघ के सदस्यों के साथ समन्वय बना लेगें और शान से लंदन ओलिम्पिक में हिस्सा लेंगे।'

इससे पहले अंतरराष्ट्रीय ओलिम्पिक संघ को लिखे पत्र में ईरान ने लंदन ओलिम्पिक खेलों के लोगो को वापस लिए जाने की माँग की थी।

'नहीं आना चाहते तो ना आएँ'ऐसे संकेत भी मिले थे कि ईरान अपने खिलाड़ियों को इन खेलों में हिस्सा लेने से रोक सकता है। इसके जवाब में अंतरराष्ट्रीय ओलिम्पिक संघ ने कहा था कि लोगो इस तरह के राजनीतिक या नस्लीय मायने नहीं रखता।

गौरतलब है कि ईरान ने शिकायत में कहा था कि मौजूदा लोगो ‘जायन' शब्द की तरह दिखता है जो ईसाईयों के पवित्र शहर यरुशलम का प्रतीक है। ईरान ने इस शब्द को नस्लीय बताते हुए लोगो को वापस लेने की माँग की थी।
ईरान की इस शिकायत को ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने नकार दिया था और कहा था कि अगर ईरान लंदन ओलिम्पिक में नहीं आता है तो उसकी कमी महसूस नहीं होगी।

लंदन से छपने वाले यहूदी अखबार को दिए साक्षात्कार में डेविड कैमरन ने कहा था 'ये तो वहम है, यदि ईरानी नहीं आना चाहते तो ना आएँ, हमें उनकी कमी महसूस नहीं होगी।'

और भी पढ़ें :