परीक्षा के दिनों में बढ़ती हैं प्रार्थनाएं

परीक्षा में अच्छे नंबरों के लिए मनाएं अपने ग्रह को...

FILE


चूंकि हमारे समाज में स्त्री द्वारा पीपल के पेड़ पर या भगवान के मंदिर में जलाना शुभ माना जाता है, इसलिए पढ़ाई-लिखाई में चाहे जितनी भी व्यस्तता क्यों न हो, युवा मंदिर में दीपक जलाना नहीं भूलते।

वे मानते हैं कि जीवन में सफलता के लिए भगवान का साथ होना जरूरी है। उस परमात्मा का साथ पाने के लिए व उसे मनाने के लिए दीप जलाना एक माध्यम होता है। हम दीप जलाकर अपनी इच्छाओं की पूर्ति के लिए अर्जी लगाकर ईश्वर को प्रसन्न कर सकते हैं।

ग्रहों से होने वाले अनिष्ट के निवारण के लिए घी या तेल का दीपक जलाना शुभ माना जाता है।




और भी पढ़ें :