प्रणव ने श्रीप्रकाश जायसवाल को डांट पिलाई

नई दिल्ली| Naidunia| पुनः संशोधित मंगलवार, 27 मार्च 2012 (01:19 IST)
सोने के आभूषणों पर उत्पाद शुल्क में की गई बढ़ोतरी पर वित्त मंत्री मुखर्जी ने कोयला मंत्री श्रीप्रकाश को डांट पिलाई और कहा कि वे अपना बयान वापस ले। कानपुर में आंदोलनकारी ज्वेलर्स से सहानुभूित रखते हुए जायसवाल ने कहा था कि कुछ सरकारी विभाग मच्छरों की तरह खून पी रहे हैं। वित्त मंत्री ने सोने के आयात शुल्क में भी बढ़ोतरी की है।


वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी ने संसद भवन के अपने कार्यालय में श्रीप्रकाश जायसवाल को बुलाकर कहा कि उनकी टिप्पणी से सरकार के लिए शर्मनाक स्थिति पैदा हुई है। सरकार में मंत्री पद पर रहते हुए वे बजट प्रस्तावों के खिलाफ कैसे बयान दे सकते हैं? मुखर्जी ने जायसवाल से कहा कि सरकार अपने बजट प्रस्तावों पर अडिग है और किसी भी मंत्री को विवादास्पद बयान देने से बचना चाहिए। सोने के व्यापारियों का कहना है कि बजट प्रस्तावों से सोने की तस्करी बढ़ेगी और कागजी प्रक्रिया भी बढ़ेगी। व्यापारियों का कहना है कि बजट प्रस्तावों की वजह से पहले सात दिनों में 10 हजार करोड़ के व्यापार का नुकसान हुआ है। श्रीप्रकाश जायसवाल ने आभूषणों व सोने के व्यापारियों के आंदोलन के साथ खड़े होकर गलत राजनीतिक संदेश भी दिया है। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान भी जायसवाल ने कई विवादास्पद बयान दिए थे।

और भी पढ़ें : प्रणव जायसवाल