दस दिशाएं कौन-सी है, जानिए वास्तुनुसार...

10 Directions



हिन्दू तथा ज्योतिष शास्त्र के अनुसार दिशाएं 8 होती है। इनके अलावा 2 दिशाएं आकाश और पाताल को मानी‍ गई है। ये दिशाएं मनुष्य का जीवन और भविष्य तय करती है।

अगर आपने इस दिशाओं के शुभ-अशुभ परिणामों को ध्यान में रखकर अपने भवन या ऑफिस का निर्माण किया है तो निश्चित ही आपको इन दिशाओं के शुभ फल प्राप्त होंगे। अन्यथा गलत दिशा में भवन या ऑफिस का निर्माण करने पर बड़ा खामियाजा भी भुगतना पड़ सकता है।

हमारे पौराणिक शास्त्रों के अनुसार इस प्रत्येक दिशा का एक देवता नियुक्त किया गया है जिसे 'दिग्पाल' कहा गया है अर्थात् दिशाओं के पालनहार, दिशाओं की रक्षा करने वाले। इसीलिए जब आप अपना घर या ऑफिस इत्यादि बनवाएं तो इन 10 दिशाओं को अवश्य ध्यान में रखें।

आइए जानें वे 10 दिशाएं कौन सी है।

* पूर्व,
* पश्चिम,

* उत्तर,

* दक्षिण,

* ईशान,

* नैऋत्य,

* वायव्य,

* आग्नेय,

* आकाश,
* पाताल।


Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :