भीम आर्मी के संस्थापक चन्द्रशेखर ने रिहा होते ही भाजपा पर साधा निशाना, कहा सुप्रीम कोर्ट से डरकर सरकार ने किया रिहा

पुनः संशोधित शुक्रवार, 14 सितम्बर 2018 (13:29 IST)
लखनऊ। रासुका के मामले में जेल में बंद भीम आर्मी के संस्थापक को ने रिहा कर दिया। भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर को शुक्रवार तड़के करीब पौने तीन बजे रिहा किया गया। चन्द्रशेखर पिछले साल जून महीने से सहारनपुर की जेल में बंद थे। जेल से बाहर आते ही चंद्रशेखर ने भाजपा के खिलाफ हल्ला बोला।

चन्द्रशेखर ने अपने लोगों से भाजपा को सत्ता से उखाड़ फेंकने की अपील की। चंद्रशेखर ने कहा कि सरकार फिर से कोई आरोप दायर कर जेल भिजवा देगी। जेल से रिहा होने के बाद भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखऱ ने कहा कि 'सरकार डरी हुई थी क्योंकि सुप्रीम कोर्ट उसे फटकार लगाने वाली थी।

यही कारण है कि अपने आप को बचाने के लिए सरकार ने जल्दी रिहाई का आदेश दे दिया। मुझे पूरी तरह विश्वास है कि वे मेरे खिलाफ दस दिनों के भीतर फिर से कोई आरोप लगाएंगे।


और भी पढ़ें :