आतंकवाद को चुनौती देतीं ये जांबाज महिलाएं...

WD|
महिलाओं की भागीदारी न केवल पैदा करने या उससे लड़ने में दिखाई दी, बल्कि आतंकवाद का सहयोग करना भी इस फेहरिस्त में शामिल था। इसी वर्ष उधमपुर हमले में पकड़े गए पाकिस्‍तानी आतंकियों के साथ एक महिला भी शामिल थी, जो लश्कर के खुर्शीद अहमद की पत्नी है। दोनों पति-पत्नी की ही मदद से आतंकी आसानी से ट्रक में हथियार लेकर आ सके। और तो और इस दंपति ने ट्रक से आगे चलकर आतंकियों को रास्ते के हर नाके और पुलिस चेकिंग के बारे में जानकारी दी, ताकिे ये आतंकी पुलिस के हत्थे न चढ़ सकें।  
 
इसी कड़ी में आतंकियों को सहयोग करने के मामले में एक और महिला आफ्शा जबीन का नाम सामने आया। दुबई में रहकर इस्लामिक स्टेट के लिए भारतीय युवकों की ऑनलाइन भर्ती का अभियान चलाने वाली हैदराबाद की 37 वर्षीय आफ्शा जबीन उर्फ निकी जोसेफ को पुलिस ने इस वर्ष गिरफ्तार किया और यूएई से भारत प्रत्यर्पित किया।जबीन पर खुद को ब्रिटिश नागरिक बताकर युवकों को बरगलाने का आरोप था। दोनों ने नकली नाम से कई समूह फेसबुक पर बनाए और आईएस से आकर्षण रखने वाले लोगों से संपर्क साधा। इस मामले में अधिकारियों का कहना था कि दोनों ने कथित तौर पर सोशल मीडिया के जरिए तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक, बिहार और अन्य राज्यों के युवकों को बरगलाया और जिहाद के लिए आईएस में शामिल होने के लिए प्रेरित किया। इस मामले के बाद सीरिया जाने वाले लगभग 25 युवकों की पहचान हुई थी।   
आतंकी संगठनों में ये है महिलाओं की स्थ‍िति... अगले पेज पर 

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :