चौतरफा लिवाली से नए शिखर पर शेयर बाजार

मुंबई। वैश्विक बाजारों से मिले सकारात्मक संकेतों और घरेलू स्तर पर मजबूत निवेश धारणा से घरेलू लगातार तीसरे दिन बढ़त बनाते हुए मंगलवार को अब तक ऐतिहासिक रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुए।
धातु, रियलिटी, पूंजीगत वस्तुओं और इंडस्ट्रियल समूहों में हुई जोरदार लिवाली से का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 0.29 प्रतिशत यानी 106.50 अंक चढ़कर 36,825.10 अंक के रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 0.45 प्रतिशत यानी 49.55 अंक की मजबूती के साथ 11,134.30 अंक के ऐतिहासिक शिखर पर पहुंच गया।
बैंकिंग और एनर्जी समूहों की मामूली गिरावटों को छोड़कर बीएसई के अन्य सभी 18 समूह बढ़त में रहे। बेसिक मटिरियल्स का सूचकांक पौने चार प्रतिशत, धातु और रियलिटी का करीब तीन प्रतिशत, पूंजीगत वस्तुओं का ढाई प्रतिशत और इंडस्ट्रियल्स का सवा दो प्रतिशत मजबूत हुआ।

सेंसेक्स में एलएंडटी के शेयर करीब साढ़े तीन प्रतिशत चढ़े। एशियन पेंट्स और वेदांता के शेयर भी दो फीसदी से अधिक की बढ़त में रहे। हीरो मोटोकॉर्प में सर्वाधिक दो प्रतिशत की गिरावट देखी गई।
चौतरफा लिवाली के दम पर सेंसेक्स 140.79 अंक की तेजी के साथ 36,859.39 अंक पर खुला। शुरुआती कारोबार में ही यह 36,902.06 अंक के अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंचने में कामयाब रहा। दोपहर बाद कुछ क्षणों के लिए लाल निशान में उतरते हुए इसने 36,709.72 अंक के दिवस के निचले स्तर को छुआ।

कारोबार की समाप्ति से पहले यह गत दिवस के मुकाबले 106.50 अंक ऊपर 36,825.10 अंक पर रहा हुआ जो इसका अब तक का रिकॉर्ड बंद स्तर है। सेंसेक्स की 30 में से 19 कंपनियां हरे और शेष 11 लाल निशान में रहीं।
निफ्टी 24.25 अंक की तेजी के साथ 11,109 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 11,143.40 अंक के उच्चतम और 11,092.50 अंक के दिवस के निचले स्तर से होता हुआ यह गत दिवस की तुलना में 49.55 अंक चढ़कर 11,134.30 अंक पर बंद हुआ। यह इसका भी ऐतिहासिक बंद स्तर है। निफ्टी की 50 में से 32 कंपनियां हरे और शेष 18 लाल निशान में रहीं।

दिग्गज कंपनियों की तुलना में मझौली और छोटी कंपनियों में निवेशकों ने ज्यादा पैसा लगाया। बीएसई का मिडकैप 1.77 प्रतिशत की तेजी के साथ 15,664.48 अंक पर और स्मॉलकैप 2.21 प्रतिशत मजबूत होकर 16,218.54 अंक पर पहुंच गया। बीएसई में कुल 2,769 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,956 के शेयर बढ़त में और 678 के नुकसान में रहे जबकि 135 कंपनियों के शेयर दिन भर के उतार-चढ़ाव के बाद अपरिवर्तित बंद हुए। (वार्ता)


और भी पढ़ें :