नीतिगत दरें बढ़ने से शिखर से फिसला शेयर बाजार

पुनः संशोधित बुधवार, 1 अगस्त 2018 (16:44 IST)
मुंबई। रिजर्व बैंक द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी से शेयर बाजार में बैंकिंग और ऑटो क्षेत्र की कंपनियों में बिकवाली देखी गई तथा बीएसई का लगातार सात दिन रिकॉर्ड बनाने के बाद आज 84.96 अंक टूटकर 37,521.62 अंक पर बंद हुआ।

इससे पहले उसने बीच कारोबार का 37,711.87 अंक का नया रिकॉर्ड भी बनाया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी ऐतिहासिक शिखर से फिसलता हुआ 10.30 अंक की गिरावट में 11,346.20 अंक पर रहा। केंद्रीय बैंक ने महंगाई की आशंका को देखते हुए दो महीने में दूसरी बार नीतिगत ब्याज दरों में 0.25 प्रतिशत की वृद्धि की है। इससे आवास तथा वाहन ऋण महंगा होने की आशंका है जिसका असर बैंकों के खुदरा ऋण उठाव पर पड़ सकता है।

साथ ही उद्योग के लिए भी पूंजी महँगी हो सकती है। इससे बाजार पर दबाव पड़ा। यात्री वाहनों की बिक्री के कमजोर आँकड़े आने से ऑटो समूह में सबसे ज्यादा 0.77 प्रतिशत की गिरावट देखी गयी। धातु और बैंकिंग समूहों में भी आधा फीसदी से अधिक की नरमी रही। सेंसेक्स की कंपनियों में वेदांता ने सर्वाधिक करीब दो फीसदी का नुकसान उठाया।

मारुति सुजुकी के शेयर पौने दो फीसदी टूटे। कोल इंडिया के शेयर तीन प्रतिशत से ज्यादा चढ़े। बढ़त का सिलसिला जारी रखते हुए सेंसेक्स 47.29 अंक चढ़कर 37,643.87 अंक पर खुला और पहले ही घंटे में 37,711.87 अंक के सर्वकालिक उच्चतम स्तर पर पहुंच गया। हालांकि इसके बाद बाजार में बिकवाली शुरू हो गई और सेंसेक्स लाल निशान में चला गया।

रिजर्व बैंक द्वारा ब्याज दरों में वृद्धि की घोषणा के बाद इसका ग्राफ अचानक नीचे उतरा। कारोबार की समाप्ति से पहले 37,432.91 अंक के दिवस के निचले स्तर तक उतरने के बाद यह गत दिवस के मुकाबले 0.23 प्रतिशत यानी 84.96 अंक उतरकर 37,521.62 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी 3.30 अंक की तेजी के साथ 11,359.80 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान इसने भी 11,390.55 अंक के सर्वकालिक उच्च स्तर का रिकॉर्ड बनाया।

इसके बाद बिकवाली के दबाव में 11,313.55 अंक के दिवस के निचले स्तर तक उतरने के बाद यह गत दिवस के मुकाबले 0.09 प्रतिशत यानी 10.30 अंक टूटकर 11,346.20 अंक पर रहा। दिग्गज कंपनियों के विपरीत मझौली और छोटी कंपनियों में निवेशकों का विश्वास रहा।
बीएसई का मिडकैप 0.19 प्रतिशत चढ़कर 16,043.12 अंक पर और स्मॉलकैप 0.26 प्रतिशत की तेजी में 16,628.06 अंक पर बंद हुआ। बीएसई में कुल 2,840 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,295 के शेयर लाल और 1,401 के हरे निशान में रहे, जबकि 144 कंपनियों के शेयर उतार-चढ़ाव से होते हुए अंतत: अपरिवर्तित रहे। (वार्ता)


और भी पढ़ें :