तेज लिवाली से शेयर बाजार सातवें शिखर पर

Last Updated: मंगलवार, 31 जुलाई 2018 (19:37 IST)
मुंबई। लगभग पूरे दिन दबाव में रहने वाला घरेलू शेयर बाजार आखिरी क्षणों में रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में हुई तेज लिवाली के दम पर मंगलवार को लगातार सातवें कारोबारी दिवस नए शिखर पर पहुंचने में कामयाब रहा। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 112.18 अंक चढ़कर 37,606.58 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 36.95 अंक की बढ़त में 11,356.50 अंक के नए रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुआ।

सेंसेक्स 40.55 अंक की तेजी के साथ 37,534.95 अंक पर खुला, लेकिन खुलते ही लाल निशान में चला गया। बैंकों के साथ ही आईटीसी, वेदांता और टाटा मोटर्स जैसी दिग्गज कंपनियों के शेयरों में बिकवाली से यह लगभग पूरे दिन लाल निशान में रहा।

इस दौरान इसने 37,298.75 अंक के दिवस के निचले स्तर को भी छुआ। हालांकि रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में आखिरी आधे घंटे में हुई तेज लिवाली से सेंसेक्स का ग्राफ अचानक ऊपर की ओर बढ़ा और यह 37,644.59 अंक के सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गया। कारोबार की समाप्ति पर यह गत दिवस के मुकाबले 112.18 अंक यानी 0.30 प्रतिशत की बढ़त में 37,606.58 अंक पर बंद हुआ।

यह इसका रिकॉर्ड बंद स्तर है। सेंसेक्स की 30 में से 18 कंपनियों के शेयर हरे और शेष 12 के लाल निशान में रहे। बीएसई में ऊर्जा समूह का सूचकांक करीब दो प्रतिशत चढ़ा। रियलिटी और टिकाऊ उपभोक्ता उत्पाद में भी एक प्रतिशत से अधिक की तेजी रही। सेंसेक्स की कंपनियों में रिलायंस ने तीन फीसदी से अधिक का मुनाफा कमाया और इसके साथ ही उसने बाजार पूंजीकरण के मामले में टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज को पछाड़कर पहला स्थान हासिल कर लिया।
बाजार बंद होते समय टीसीएस का बाजार पूंजीकरण 7,43,222.16 करोड़ रुपए और रिलायंस इंडस्ट्रीज का 7,51,414.89 करोड़ रुपए रहा। हीरो मोटोकॉर्प और हिंदुस्तान यूनिलिवर के शेयर ढाई फीसदी से ज्यादा चढ़े। अदानी पोर्ट्स में भी करीब ढाई प्रतिशत की बढ़त रही। सबसे ज्यादा सवा तीन प्रतिशत का नुकसान एक्सिस बैंक ने उठाया। (वार्ता)


और भी पढ़ें :