दो दिन की गिरावट से उबरा बाजार, सेंसेक्स 276 अंक चढ़ा

मुंबई| Last Updated: बुधवार, 6 जून 2018 (18:01 IST)
मुंबई। वैश्विक स्तर पर शेयर बाजारों से मिले सकारात्मक संकेतों और घरेलू स्तर पर मजबूत निवेश धारणा के दम पर का बुधवार को 2 दिन की गिरावट से उबरता हुआ 275.67 अंक चढ़कर 35,178.88 अंक पर पहुंच गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 91.50 अंक की तेजी में 10,684.65 अंक पर रहा।
की मौद्रिक नीति समिति की बुधवार को हुई बैठक में साढ़े 4 साल बाद ब्याज दरों में बढ़ोतरी की घोषणा की। समिति ने रेपो दर 6 प्रतिशत से बढ़ाकर 6.25 प्रतिशत कर दिया, साथ ही रिवर्स रेपो दरों में भी 0.25 प्रतिशत की बढ़ोतरी की गई है। बाजार इस घोषणा के लिए पहले से ही तैयार दिखा। मौद्रिक नीति की घोषणा के साथ ही कुछ देर के लिए बाजार की बढ़त कमजोर पड़ी, लेकिन उसके बाद एक बार फिर इसमें लिवाली ने जोर पकड़ा तथा सेंसेक्स का ग्राफ और ऊपर की ओर बढ़ा।
चौतरफा लिवाली के बीच बीएसई के सभी 20 समूह हरे निशान में रहे। दूरसंचार समूह का सूचकांक 3 प्रतिशत और टिकाऊ उपभोक्ता उत्पाद समूह का सवा 2 प्रतिशत से ज्यादा चढ़ा। सेंसेक्स की शुरुआत बुधवार को 29.28 अंक की सामान्य बढ़त के साथ 34,932.49 अंक पर हुई।

शुरुआती कारोबार में ही एक समय 34,896.37 अंक के दिवस के निचले स्तर को छूने के बाद यह पूरे दिन हरे निशान में रहा। मौद्रिक नीति की घोषणा के बाद कारोबार की समाप्ति से पहले 35,230.54 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर से होता हुआ यह गत दिवस की तुलना में 0.79 प्रतिशत यानी 275.67 अंक ऊपर 35,178.88 अंक पर बंद हुआ।
निफ्टी 10.30 अंक की तेजी के साथ खुला। इसका दिवस का निचला स्तर 10,587.50 अंक और उच्चतम स्तर 10,698.35 अंक दर्ज किया गया। अंतत: यह गत दिवस के मुकाबले 0.86 प्रतिशत यानी 91.50 अंक चढ़कर 10,684.65 अंक पर बंद हुआ।

बीएसई में कुल 2757 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,668 के शेयरों में तेजी और 967 में गिरावट रही जबकि 122 कंपनियों के शेयर दिनभर के उतार-चढ़ाव के बाद अंतत: अपरिवर्तित बंद हुए। मझौली और छोटी कंपनियों में भी लिवाली का जोर रहा। बीएसई का मिडकैप 1.28 फीसदी और स्मॉलकैप 1.53 प्रतिशत की तेजी में क्रमश: 15,734.19 अंक और 16,467.30 अंक पर पहुंच गया। (वार्ता)


और भी पढ़ें :