उत्तर कोरिया के नए परीक्षण से शेयर बाजार लुढ़के

पुनः संशोधित सोमवार, 4 सितम्बर 2017 (17:38 IST)
मुंबई। उत्तर कोरिया द्वारा शक्तिशाली हाइड्रोजन बम का परीक्षण करने से वैश्विक बाजारों में हड़कंप मच गया और घरेलू भी इसकी चपेट में आने से नहीं बच पाए। कमजोर वैश्विक संकेतों के बीच निवेशकों के बिकवाल बनने से सोमवार को बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 189.98 अंक लुढ़ककर 31,702.25 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 61.55 अंक टूटकर 9,912.85 अंक पर बंद हुआ।



उत्तर कोरिया के इस ताजा परीक्षण से वैश्विक मंच पर उथलपुथल मच गई है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् ने आज इसी विषय पर चर्चा के लिए आपात बैठक बुलाई है। उत्तर कोरिया का यह छठा परीक्षण है और उसका दावा है कि इस बार उसने हाइड्रोजन बम का सफल परीक्षण किया है। जापान और दक्षिण कोरिया का भी कहना था कि इससे आया झटका अधिक शक्तिशाली झटका था।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस पर कड़ी आपत्ति दर्ज करते हुए कहा कि अमेरिका उचित समय आने पर उत्तर कोरिया के खिलाफ कार्रवाई करेगा। ट्रंप ने ट्विटर पर कहा, मैंने दक्षिण कोरिया से कहा था कि उत्तर कोरिया के साथ तुष्टीकरण की उनकी बात नहीं बनेगी और उसने अंतरराष्ट्रीय समुदाय की चेतावनी को नजरअंदाज कर अपनी मर्जी ही चलाई जिससे यह साबित होता है कि उत्तर कोरिया केवल एक ही भाषा समझता है।

दक्षिण कोरिया के रक्षामंत्री के अनुसार, उत्तर कोरिया आने वाले समय में और बैलिस्टिक मिसाइल के परीक्षण कर सकता है। उन्होंने साथ ही आज यह चिंता भी जाहिर की कि संभवत: उत्तर कोरिया अंतर द्विपीय
बैलिस्टिक मिसाइल भी लांच करने वाला है।



सेंसेक्स आज 39.87 अंक की मामूली बढ़त लेकर 31,932.20 अंक पर खुला और यही इसका दिवस का उच्चतम स्तर भी रहा। अगस्त में वाहनों की बिक्री के मजबूत आंकड़ों के बावजूद शेयर बाजार पर वैश्विक रुख अधिक हावी रहा। कारोबार के दौरान यह 31,560.32 अंक के निचले स्तर तक का गोता लगाता हुआ गत दिवस की तुलना में अंतत: 0.60 प्रतिशत लुढ़ककर 31,702.25 अंक पर बंद हुआ।

सेंसेक्स की 30 में से 23 कंपनियां आज लाल निशान में रहीं। कोल इंडिया ने आज सबसे अधिक मुनाफा कमाया। गत शुक्रवार को कोल इंडिया ने उत्पादन के आंकड़े जारी किए, जिसके अनुसार उसने अगस्त में लक्ष्य से कहीं अधिक 3.76 करोड़ टन कोयले का उत्पादन किया है। सकारात्मक उत्पादन आंकड़ों के दम पर कंपनी के शेयरों में आज सबसे अधिक तेजी रही।

निफ्टी का ग्राफ भी लगभग सेंसेक्स की तरह ही रहा। यह भी 9.75 अंक की बढ़त में 9,984.15 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 9,988.40 अंक के उच्चतम और 9,861.00 अंक के निचले स्तर से होता हुआ गत दिवस के मुकाबले 0.62 फीसदी टूटकर 9,912.85 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी की 51 में 40 कंपनियों में आज जमकर बिकवाली हुई। बीएसई के 20 में 19 समूहों के सूचकांक में गिरावट रही।

दिग्गज कंपनियों की तुलना में छोटी और मझोली कंपनियों में अधिक बिकवाली हुई। बीएसई का मिडकैप 0.68 प्रतिशत यानी 106.24 अंक लुढ़ककर 15,580.42 अंक पर और स्मॉलकैप भी 0.68 प्रतिशत यानी 109.51 अंक लुढ़ककर 16,020.61 अंक पर बंद हुआ। बीएसई में आज कुल 2,822 कंपनियों ने कारोबार किया। इनमें से 1,603 कंपनियों के शेयरों के भाव गिरावट में, 993 के बढ़त में और शेष 226 के अपरिवर्तित रहे। (वार्ता)


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :