कंपनियों में लिवाली के दम पर सेंसेक्स चढ़ा

पुनः संशोधित शुक्रवार, 20 जुलाई 2018 (17:48 IST)
मुंबई। आईटी और टेक के साथ दूरसंचार तथा स्वास्थ्य क्षेत्र की कंपनियों में लिवाली के दम पर शुक्रवार को घरेलू शेयर बाजार करीब आधा फीसदी तक की तेजी में रहे। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 0.40 प्रतिशत यानी 145.14 अंक चढ़कर
36,496.37 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 0.48 प्रतिशत यानी 53.10
अंक की मजबूती के साथ 11,010.20 अंक पर पहुंच गया।

बीएसई के समूहों में आईटी में सबसे ज्यादा डेढ़ फीसदी की बढ़त रही। टेक, दूरसंचार और स्वास्थ्य समूहों का सूचकांक भी 1 प्रतिशत से ज्यादा चढ़ा। हालांकि तेल एवं गैस, धातु तथा ऑटो क्षेत्र पर दबाव रहा। उम्मीद से कमजोर तिमाही परिणाम आने से बजाज ऑटो ने सेंसेक्स और निफ्टी में सबसे ज्यादा नुकसान उठाया। सेंसेक्स में उसका शेयर 8.73 प्रतिशत और निफ्टी में 9.42 प्रतिशत टूटा।

सनफार्मा ने सेंसेक्स में सबसे ज्यादा ढाई प्रतिशत का मुनाफा कमाया। इंफोसिस और रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर भी 2 फीसदी से ज्यादा चढ़े। सेंसेक्स 25.80 अंक की तेजी के साथ 36,377.03 अंक पर खुला। शुरुआती कारोबार में ही कुछ देर के लिए लाल निशान में जाते हुए 36,335.61 अंक के दिवस के निचले स्तर को छूने के बाद बाजार ने पीछे मुड़कर नहीं देखा।

विदेशी बाजारों से मिले सकारात्मक संकेतों से भी इसे समर्थन मिला। कारोबार की समाप्ति से पहले 36,567.34 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर को छूने के बाद यह गत दिवस के मुकाबले 145.14 अंक ऊपर 36,496.37 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 30 में से 12 कंपनियां लाल और शेष 18 हरे निशान में रहीं। निफ्टी 6.40 अंक की तेजी में 10,963.50 अंक पर खुला।

कारोबार के दौरान 10,946.20 अंक के दिवस के निचले और 11,030.25 अंक के उच्चतम स्तर से होता हुआ यह गत दिवस की तुलना में 53.10 अंक ऊपर 11,010.20 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी की 50 में से 29 कंपनियों के शेयर हरे और शेष 21 के लाल निशान में रहे। छोटी और मझौली कंपनियों में भी निवेशकों ने पैसा लगाया।

बीएसई का मिडकैप 0.73 प्रतिशत चढ़कर 15,196.46 अंक पर और स्मॉलकैप 0.41 प्रतिशत की बढ़त में 15,721.43 अंक पर रहा। बीएसई में कुल 2,695 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें से 1,152 कंपनियों के शेयर बढ़त में और 1,407 के गिरावट में बंद हुए जबकि 136 कंपनियों के शेयर उतार-चढ़ाव से होते हुए अंतत: अपरिवर्तित बंद हुए। (वार्ता)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :