Widgets Magazine

लिवाली से सेंसेक्स संभला, निफ्टी टूटा

पुनः संशोधित शुक्रवार, 19 मई 2017 (18:03 IST)
मुंबई। वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) की दरों की घोषणा के बाद शुक्रवार को घरेलू में बनी नकारात्मक निवेश धारणा के बावजूद दिग्गज कंपनियों (विशेषकर एफएमसीजी समूह की कंपनियों) में हुई लिवाली से सेंसेक्स अधिकतर शुरुआती बढ़त गंवाता हुआ 30.13 अंक की तेजी में 30,434.79 अंक पर बंद हुआ जबकि निफ्टी 1.55 अंक की गिरावट के साथ 9,427.90 अंक पर रहा।
 
रोजमर्रा की उपभोक्ता वस्तुओं (एफएमसीजी) को जीएसटी में 18 प्रतिशत के स्लैब में रखा गया है जबकि मौजूदा समय में इन पर औसतन 22 से 25 प्रतिशत कर लगता है। इससे बीएसई के सेंसेक्स में आईटीसी और हिंदुस्तान यूनिलिवर में सबसे ज्यादा तेजी देखी गई। आईटीसी के शेयर करीब तीन प्रतिशत उछले। 
 
हिंदुस्तान यूनिलिवर में भी दो प्रतिशत से अधिक की तेजी रही। वहीं एशियन पेंट्स में करीब ढाई प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई। बाजार पर बिकवाली का दबाव इस कदर हावी रहा कि सेंसेक्स को छोड़ बीएसई के शेष सभी प्रमुख सूचकांक लाल निशान में रहे। जीएसटी में 1,200 वस्तुओं पर करों की दरें गुरुवार को घोषित कर दी गई थीं जबकि सेवाओं के लिए दरों की घोषणा शुक्रवार शाम होनी है। 
 
वैश्विक बाजारों से मिले सकारात्मक संकेतों के बीच सेंसेक्स 104.86 अंक चढ़कर 30,539.65 अंक पर खुला। पहले घंटे के कारोबार में ही यह और चढ़ता हुआ 30,712.35 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया, लेकिन घरेलू स्तर पर बनी कमजोर निवेश धारणा से दोपहर तक यह लाल निशान में उतर गया। कारोबार के दौरान एक समय यह 30,338.52 अंक के दिवस के निचले स्तर तक भी उतरा, लेकिन सेंसेक्स की एफएमसीजी कंपनियों ने इसे लाल निशान में बंद होने से बचा लिया। यह गत दिवस की तुलना में 0.10 प्रतिशत यानी 30.13 अंक चढ़कर 30,434.79 अंक पर बंद हुआ।
 
निफ्टी 40.45 अंक की तेजी में 9,469.90 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 9,505.75 अंक के दिवस के उच्चतम और 9,390.75 अंक के न्यूनतम स्तर से होता हुआ यह गत दिवस के मुकाबले 0.02 प्रतिशत यानी 1.55 अंक उतरकर 9,427.90 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 30 में से 14 कंपनियां लाल निशान में और 16 हरे निशान में रहीं जबकि निफ्टी की 51 में से 32 कंपनियों में गिरावट देखी गई। 
 
बीएसई में कुल 2,911 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,786 के शेयर बढ़त के साथ और 961 के गिरावट में बंद हुए जबकि 164 के शेयरों के बंद भाव गत दिवस के स्तर पर ही रहे। कमजोर निवेश धारणा से मझौली और छोटी कंपनियों में जबरदस्त गिरावट देखी गई। बीएसई का मिडकैप 0.72 प्रतिशत फिसलकर 14,644 अंक पर और स्मॉलकैप 0.88 प्रतिशत की गिरावट के साथ 15,227.07 अंक पर रहा। (वार्ता) 


Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine