Widgets Magazine

बाजार पर दबाव, सेंसेक्स 70 अंक नीचे

पुनः संशोधित मंगलवार, 28 फ़रवरी 2017 (17:21 IST)
नई दिल्ली। वैश्विक स्तर से मिले मिश्रित संकेतों के बीच घरेलू स्तर पर आर्थिक विकास के आंकड़ों के आने की उम्मीद में निवेशकों के सतर्कता बरतने से मंगलवार को घरेलू शेयर बाजार पर लगातार दूसरे दिन गिरावट देखी गई और इससे 69.56 अंक और निफ्टी 17.10 अंक नीचे उतर गए। 
       
बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक 69.56 अंक गिरकर 28743.32 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 17.10 अंक उतरकर 8879.60 अंक पर रहा। बड़ी कंपनियों में बिकवाली से जहां सेंसेक्स पर दबाव देखा गया वहीं छोटी और मझौली कंपनियों में लिवाली का जोर रहा जिससे बीएसई का मिडकैप 0.14 फीसदी बढ़कर 13552.22 अंक पर और स्‍मॉलकैप 0.59 प्रतिशत उठकर 13609.88 अंक पर रहा। 
        
वैश्विक स्तर से मिले सकारात्मक संकेतों के बल पर बीएसई का सेंसेक्स बढ़त के साथ 28825.19 अंक पर खुला और लिवाली के बल पर यह शुरुआती कारोबार में ही 28876.54 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया। 
 
हालांकि इसके बाद बिकवाली का दबाव बना और बाजार बंद होने के बाद जीडीपी के दूसरे अग्रिम अनुमान तथा तीसरे तिमाही के विकास के आंकड़ों के जारी किए जाने से निवेशकों के सतर्कता बरतने से यह 28721.12 अंक के निचले स्तर पर लुढ़क गया। हालांकि बाद में हुई लिवाली के बल पर यह थोड़ा सुधरा। आखिर में यह पिछले दिवस के 28812.88 अंक की तुलना में 69.56 अंक अर्थात 0.24 प्रतिशत गिरकर 28743.32 अंक पर रहा। 
       
इसी तरह से निफ्टी भी मामूली बढ़त के साथ 8898.95 अंक पर खुला और लिवाली के जोर से 8900 अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर को पार करते हुए 8914.75 अंक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया। इसके बाद हुई बिकवाली से यह 8867.60 अंक के निचले स्तर पर आ गया। 
 
अंत में यह पिछले दिवस के 8896.70 अंक की तुलना में 0.19 प्रतिशत अर्थात 17.10 अंक गिरकर 8879.60 अंक पर रहा। बीएसई में कुल 3006 कंपनियों में कारोबार हुआ जिनमें से 1470 बढ़त में और 1320 गिरावट में रहे जबकि 216  पछले दिवस के स्तर पर टिके रहे। (वार्ता)
Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine
Widgets Magazine