शेयर बाजार लुढ़का, सेंसेक्‍स और निफ्टी में रही गिरावट

Bombay Stock Exchange
पुनः संशोधित मंगलवार, 4 दिसंबर 2018 (17:08 IST)
मुंबई। अधिकतर विदेशी बाजारों से मिले नकारात्मक संकेतों के बीच मुनाफावसूली के दबाव में घरेलू लगातार छह दिन की तेजी खोते हुए मंगलवार को लाल निशान में बंद हुए। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 106.69 अंक की गिरावट में 36,134.31 अंक पर और एनएसई का निफ्टी 14.25 अंक की गिरावट में 10,869.50 अंक पर बंद हुआ।

अमेरिका और चीन के बीच गत शनिवार को हुई बातचीत को लेकर निवेशकों में उपजी आशंका से विदेशी बाजारों के साथ-साथ घरेलू शेयर भी धराशायी हो गए। निवेशकों को यह आशंका है कि अमेरिका और चीन 90 दिन की तय अवधि में व्यापार समझौते की जमीन तैयार नहीं कर पाएंगे और अमेरिका फिर टैरिफ युद्ध की शुरुआत कर देगा। इसके अलावा अमेरिकी फेडरल रिजर्व की इस माह होने वाली बैठक में ब्याज दर बढाए जाने की आशंका भी निवेश धारणा के खिलाफ है।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में एक फीसदी से अधिक के उछाल से भी निवेशक हतोत्साहित रहे। लंदन का ब्रेंट क्रूड वायदा आज 70 सेंट यानी 1.1 प्रतिशत की तेजी के साथ 62.39 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया। कच्चे तेल की कीमतों में रही तेजी और डॉलर की तुलना में रुपए की गिरावट से घरेलू शेयर बाजार में बिकवाली हावी रही। सेंसेक्स तेजी के साथ 36,290.48 अंक पर खुला।

कारोबार के दौरान यह 36,295.84 अंक के दिवस के उच्चतम और 36,036.39 अंक के दिवस के निचले स्तर से होता हुआ गत दिवस की तुलना में 0.29 प्रतिशत की गिरावट में 36,134.31 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 30 में से 17 कंपनियां लाल निशान में रहीं। निफ्टी भी हल्की बढ़त के साथ 10,877.10 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान यह 10,890.95 अंक के दिवस के उच्चतम और 10,833.35 अंक के दिवस के निचले स्तर से होता हुआ गत दिवस की तुलना में 0.13 प्रतिशत की गिरावट में 10,869.50 अंक पर बंद हुआ।

निफ्टी की 50 में से 26 कंपनियां गिरावट में और 24 तेजी में रहीं। दिग्गज कंपनियों की तुलना में मझोली कंपनियों में बिकवाली का कम जोर रहा जबकि छोटी कंपनियों में लिवाली देखी गई। बीएसई का मिडकैप 0.07 प्रतिशत यानी 10.23 अंक की गिरावट में 15,097.60 अंक पर और स्मॉलकैप 0.14 प्रतिशत यानी 20.13 अंक की तेजी में 14,514.22 अंक पर बंद हुआ। बीएसई में
कुल 2,717 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ, जिनमें 1,412 में गिरावट,1,160 में तेजी रही और 145 कंपनियों के शेयरों के भाव दिनभर के उतार-चढ़ाव के बाद अपरिवर्तित बंद हुए।


और भी पढ़ें :