पहलवान नवजोत कौर को सरकारी नौकरी की पेशकश

पुनः संशोधित गुरुवार, 8 मार्च 2018 (00:54 IST)
चंडीगढ़। ने एशियन कुश्ती चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली महिला पहलवान को सरकारी नौकरी की पेशकश के अलावा पांच लाख रुपए का नकद इनाम देने का फैसला किया है। इस आशय का फैसला बुधवार को यहां मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में लिया गया।

बैठक में नवजोत कौर की विपरीत परिस्थितियों में मेहनत कर देश तथा राज्य का मान बढ़ाने के लिए प्रशंसा की गई। विकास में पिछड़े सीमावर्ती तरनतारन जिले की बेटी नवजोत को नकद इनाम देने का भी बैठक में फैसला किया गया।

मुख्यमंत्री ने उसे सरकारी नौकरी देने की इच्छा जताई, जिसे मंत्रिमंडल ने मंजूर कर लिया।
मुख्यमंत्री ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे खिलाड़ियों को सम्मान देने के लिए व्यापक नीति तैयार करें और अलग-अलग पदक जीतने वालों को नौकरी देने के बारे में विशेष तौर पर मापदंडों का उल्लेख करें, ताकि किसी के साथ अन्याय न हो।

भारतीय महिला टीम के पूर्व कोच रहे, अर्जुन अवॉर्डी, ओलंपिक पदक विजेता कृपाशंकर बिश्‍नोई ने पहलवान नवजौत कौर और साक्षी मलिक को कुश्‍ती की कोचिंग दी है। उल्‍लेखनीय है कि रेलवे के कोच बिश्‍नोई ने ही सबसे पहले यह मुद्दा उठाया था कि जब स्‍टार क्रिकेटर हरमनप्रीत कौर को सरकारी नौकरी दी जा सकती है तो नवजौत कौर को क्‍यों नहीं। नवजौत एक गरीब परिवार से हैं और उनके पिता ने 13 लाख रुपए का कर्ज ले-लेकर अपनी बेटी को इस मुकाम तक पहुंचाया है। (एजेंसी/ वेबदुनिया)


और भी पढ़ें :