एल्पाइन स्कींग में फ्रांस का 70 साल का सूखा समाप्त

पुनः संशोधित मंगलवार, 13 फ़रवरी 2018 (22:32 IST)
प्योंगयोंग। ने का शीतकालीन ओलंपिक में पुरुष एल्पाइन स्कींग स्पर्धा में पदक का 70 साल का सूखा मंगलवार को समाप्त कर दिया। मफैट जैनडेट ने पुरुष एल्पाइन स्कींग स्पर्धा में जीता जो इस स्पर्धा में 1948 में हेनरी ओरेलर के स्वर्ण और जेम्स कोटेट के कांस्य पदक जीतने के बाद फ्रांस का है।

अपनी इस सफलता के बाद जैनडेट ने संवाददाताओं से कहा, 'यह काफी लंबा इंतजार था। मेरा हमेशा से स्कींग चैंपियन बनने का सपना था। लेकिन मैंने कभी ओलंपिक पदक के बारे में नहीं सोचा था। मैं वाकई बहुत खुश हूं।'

में किम और स्की में हिर्शर को स्वर्ण : अमेरिका की युवा और ऑस्ट्रिया के दिग्गज स्की खिलाड़ी मार्सेल हिर्शर ने ओलंपिक खेलों में स्वर्ण पदक जीता तो वहीं इन खेलों में डोपिंग मामला का पहला मामला भी सामने आया।

महिलाओं की हाफपाईप स्नो बोर्डिंग में 17 साल की किम ने स्वर्ण पदक अपने नाम किया। किम का यह पहला ओलंपिक है जिसमें वह 98.25 अंकों के साथ शीर्ष पर रही। लंबे समय से ओलंपिक स्वर्ण पदक जीतने का हिर्शेर का सपना भी आज पूरा हुआ।

विश्व कप में 55 जीत दर्ज करने वाले 28 वर्षीय हिर्शेर शानदार स्लैलम रन के बाद जीत दर्ज कर भावुक हो गए। उन्होंने सोच्ची में हुए पिछले खेलों में रजत पदक हासिल किया इस दौरान जापान के शार्ट ट्रैक स्पीड स्केटर केइ सेइतो को प्रतिबंधित दवाओं के सेवन का दोषी पाया गया, जो प्योंगचांग ओलंपिक में डोपिंग का पहला मामला है।

31 बरस के सेइतो शीतकालीन ओलंपिक के डोप टेस्ट में नाकाम रहने वाले पहले जापानी खिलाड़ी हैं। डोपिंग निरोधक एजेंसी ने एक बयान में यह जानकारी दी। उन्हें प्रतिबंधित डायूरेटिक एसेटालोजामाइड के सेवन का दोषी पाया गया।

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :