56 मिनट में सिमोना हालेप बनीं विंबलडन चैंपियन, तोड़ा सेरेना का 24 ग्रैंडस्लैम खिताब के रिकॉर्ड की बराबरी का सपना

पुनः संशोधित शनिवार, 13 जुलाई 2019 (20:26 IST)
लंदन। रोमानिया की ने तक चले विंबलडन महिला वर्ग के फाइनल में 7 बार की चैंपियन पर सीधे सेटों में सनसनीखेज जीत दर्ज करते हुए अमेरिकी स्टार के 24 ग्रैंडस्लैम खिताब के की बराबरी करने के सपने को तोड़ दिया।
27 साल की हालेप ने 6-2, 6-2 की आसान जीत से अपना दूसरा ग्रैंडस्लैम खिताब जीता। उन्होंने 2018 रोलां गैरां ट्रॉफी अपने नाम की थी। 37 साल की सेरेना ने अपना 23वां ग्रैंडस्लैम खिताब 2017 ऑस्ट्रेलियाई ओपन में जीता था और वे ऑस्ट्रेलिया की मारग्रेट कोर्ट के सर्वकालिक मेजर खिताब की बराबरी करने की कोशिश में जुटी थीं।

मैच के दौरान सेरेना ने 26 सहज गलतियां कीं जिसका उन्हें खामियाजा भुगतना पड़ा जबकि हालेप ने केवल 2 ही गलतियां कीं। वे तीसरी बार ग्रैंडस्लैम के फाइनल में पहुंचीं लेकिन रिकॉर्ड की बराबरी करने से चूक गईं। वे पिछले साल विंबलडन के फाइनल में एंजेलिक कर्बर से और अमेरिकी ओपन के फाइनल में नाओमी ओसाका से हार गई थीं। हालेप ने पहला और दूसरा सेट आसानी से 6-2 से अपने नाम किया।
हालेप ने 7 बार की चैंपियन सेरेना के खिलाफ शुरू से ही दबदबा बनाया। उसने सेरेना के पहले 2 सर्विस गेम ब्रेक करके 4-0 की बढ़त हासिल कर ली। इस समय तक हालेप ने 6 विनर जमा लिए थे और 1 भी सहज गलती नहीं की थी जबकि सेरेना 1 भी विनर नहीं जमा सकी और 9 सहज गलतियां कर बैठीं। दूसरे सेट में भी यही हाल रहा जिससे हालेप को अपनी पहली विंबलडन ट्रॉफी हासिल करने में ज्यादा पसीना नहीं बहाना पड़ा। (भाषा)

 

और भी पढ़ें :