सेरेना, फेडरर और राफा के लिए साल 2017 रहा बेमिसाल

Roger Federer1
पुनः संशोधित शनिवार, 30 दिसंबर 2017 (17:25 IST)
लंदन। सेरेना विलियम्स ने जनवरी के दो सप्ताह में ऑस्ट्रेलियन ओपन जीतकर खुद को महान टेनिस खिलाड़ियों की सूची में ला दिया तो और ने फिर 2017 का पूरा सत्र टेनिस कोर्ट पर इतिहास रच अपने लिए इस वर्ष को यादगार और बेमिसाल बना दिया।





अमेरिका की दिग्गज महिला टेनिस खिलाड़ी सेरेना ने वर्ष 2017 की शुरुआत जनवरी में पहले ग्रैंड स्लेम ऑस्ट्रेलियन ओपन में अपनी बड़ी बहन वीनस विलियम्स को हराकर की जहां उन्होंने अपना 23वां एकल स्लैम हासिल किया और वर्तमान युग में सर्वाधिक एकल ग्रैंड स्लेम हासिल करने वाली महान खिलाड़ियों में शामिल हो गईं।






हालांकि सेरेना इसके बाद 2017 में फिर बाकी सत्र कोर्ट पर नहीं उतरीं, लेकिन अपनी निजी जिंदगी को लेकर चर्चा में पूरे वर्ष बनी रहीं और उनके लिए निश्चित ही यह वर्ष जीवन का सबसे यादगार साल बन गया जब उन्होंने आठ सप्ताह के गर्भ के साथ मेलबर्न में बिना एक भी सेट गंवाए न सिर्फ खिताब जीता, बल्कि अपनी बेटी एलेक्सिस ओलंपिया को सितंबर में जन्म भी दिया। साथ ही इसी वर्ष अपने मंगेतर एलेक्सिस ओहानियन से विवाह बंधन में भी बंध गईं।





अमेरिकी टेनिस खिलाड़ी के अब इस एक वर्ष का चक्र पूरा होने जा रहा है और उम्मीद है कि वर्ष 2018 जनवरी में फिर से 36 वर्ष की हो चूकीं सेरेना फिर से मेलबर्न में अपने खिताब का बचाव करने उतरेंगी जहां उनका लक्ष्य मार्गेट कोर्ट के सर्वकालिक रिकॉर्ड 24 एकल खिताबों की बराबरी करना होगा। सेरेना के साथ यह वर्ष टेनिस के बड़े प्रतिद्वंद्वी और महान खिलाड़ियों फेडरर और नडाल की वापसी वर्ष के रूप में भी याद रखा जाएगा, जिसमें दोनों ने सत्र के चार ग्रैंड स्लैम आपस में ही बांटे।







छह महीने कोर्ट से बाहर रहने के बाद 35 साल के फेडरर ने अपने अनुभव को उम्र पर हावी बताते हुए कमाल का प्रदर्शन किया तो वहीं 30 वर्षीय नडाल ने भी घुटने की चोट के बाद जबरदस्त वापसी की और एक समय शीर्ष 10 से बाहर हो चुके स्पेनिश खिलाड़ी वर्ष 2017 का समापन दुनिया के नंबर वन खिलाड़ी के तौर पर कर रहे हैं।









ऑस्ट्रेलियन ओपन में पांच सेटों के घमासान के बाद नडाल को हराकर फेडरर विजेता बने। हालांकि क्ले कोर्ट सत्र से वह बाहर रहे तो नडाल ने रोलां गैरों में अपने 'क्ले कोर्ट किंग' होने का खिताब पास रखते हुए 10वीं बार फ्रेंच ओपन खिताब अपने नाम किया। वहीं विंबलडन में तरोताज़ा होकर लौटे स्विटजरलैंड के फेडरर ने फिर रिकॉर्ड आठवीं बार विंबलडन चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया जो उनका 19वां ग्रैंड स्लैम था।





अगस्त में हालांकि फेडरर पीठ में चोट के कारण प्रभावित रहे और नडाल ने वर्ष के आखिरी स्लैम यूएस ओपन में केविन एंडरसन को हराकर खिताब जीता तथा विश्व के नंबर एक खिलाड़ी बन गए जबकि फेडरर नंबर दो खिलाड़ी बने। यह पूरा वर्ष हालांकि एंडी मरे और नोवाक जोकोविच के लिए यादगार नहीं होगा जो विंबलडन के बाद से ही कोर्ट से बाहर रहे।



मरे और जोकोविच वर्ष 2018 में वापसी के लिए उतरेंगे तो एटीपी चैंपियन बने ग्रिगोर दिमित्रोव के पास भी अगले वर्ष खुद को साबित करने का मौका होगा। हालांकि मौजूदा वर्ष फेडरर के लिए खास रहा जब उन्होंने अपने 57 मैचों में मात्र पांच हारे और सात खिताब जीते। वहीं सेरेना के लिए भी अगला वर्ष 'कमबैक' का होगा, जो निजी जिंदगी के बाद फिर से खेल पर अपनी बादशाहत चाहती हैं।





वर्ष 2017 में एंजेलिक केर्बर, कैरोलीन प्लिस्कोवा और गरबाइन मुगुरूजा ने भी नंबर वन रैंकिंग तक पहुंचने का गौरव हासिल किया। वहीं महिलाओं में 20 साल की लात्विया की एलेना ओस्तापेंको फ्रेंच ओपन में सबसे युवा विजेता बनीं जिनका यह करियर में पहला खिताब था, तो टूर्नामेंट से पहले तक विश्व में 957वीं रैंकिंग की स्लोएन स्टीफंस ने भी पैर की चोट के बाद वापसी कर हमवतन मैडिसन की को हराकर यूएस ओपन का खिताब जीत सभी को चौंकाया। (वार्ता)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :