प्रो स्पोर्टीफाई को इंडियन एरेना पोलो लीग की ज़िम्मेदारी

Last Updated: सोमवार, 11 फ़रवरी 2019 (17:18 IST)
नई दिल्ली। इंडियन पोलो एसोसिएशन और इस साल सितम्बर में संयुक्त रूप से का आयोजन करेंगे। इस आशय की घोषणा सेना प्रमुख एवं इंडियन पोलो एसोसिएशन (आईपीए) के अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत, लेफ्टि जनरल एवं के उपाध्यक्ष अशोक आम्ब्रे और प्रो स्पोर्टीफाई के फाउंडर एवं प्रमोटर कार्तिकेय शर्मा ने एक संयुक्त बयान में की।

यहां आयोजित कैवलरी गोल्ड कप के मौके पर जनरल बिपिन रावत ने एरेना पोलो बॉल कार्तिकेय शर्मा को भेंट करके इस कार्यक्रम को आगे बढ़ाने का ज़िम्मा उन्हें सौंपा। इंडियन एरेना पोलो लीग में कुल छह टीमें हिस्सा लेंगी। एरेना पोलो का छोटा स्वरूप है जिसमें पोलो का अपेक्षाकृत छोटा ग्राउंड, बड़ी गेंद और रंगीन कपड़ों का इस्तेमाल किया जाता है जिसमें इस खेल की तेज़तर्रार गति प्रोफेशनल रूप में दिखाई देगी। लीग में भारतीय खिलाड़ियों के अलावा अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी भी भाग लेंगे। पोलो लीग में स्पोर्ट्स, फैशन और लाइफस्टाइल का संगम देखने को मिलेगा।

इंडियन पोलो लीग के लॉन्च के अवसर पर आईपीए के मानद सचिव एवं विशिष्ट सेवा मेडल प्राप्त कर्नल रवि राठौर ने प्रो स्पोर्टीफाई के इस प्रोफेशनल स्पोर्ट्स को देश में आगे बढ़ाने के प्रति प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि वह इस कदम के लिए कार्तिकेय शर्मा की दूरदर्शिता, खेल के प्रति लगाव और समर्पण के लिए उन्हें बधाई देते हैं।

इस अवसर पर कार्तिकेय शर्मा ने कहा कि देश में पोलो का खेल ठाठबाठ का पर्याय रहा है और अब इसके संरक्षकों को इंडिया पोलो लीग में अपनी टीम खरीदने का अवसर रहेगा। यह खेल देश में तेज़ी से उभरते खेल और लाइफस्टाइल बिजनेस के रूप में सामने आ रहा है।

इस समय भारतीय पोलो एसोसिएशन के साथ देश भर में 35 क्लब जुड़े हुए हैं जिनमें कुल 450 खिलाड़ी हैं और उनमें भी सौ से ज़्यादा पेशेवर खिलाड़ी हैं। सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत इंडियन पोलो एसोसिएशन के अध्यक्ष हैं। यह एसोसिएशन इंटरनैशनल पोलो संघ से सम्बद्ध है। अब आईपीए और प्रो स्पोर्टीफाई मिलकर इस लीग को आयोजित करेंगे और आईपीए लीग को संचालित करने के लिए अधिकारी मुहैया कराएगा। (वार्ता)


और भी पढ़ें :