ओलंपियन सुशील की इंदौरी जमीं पर होगी वापसी

Last Updated: शनिवार, 11 नवंबर 2017 (00:49 IST)
इंदौर। लंबे अर्से बाद की कुश्ती के एरिने में वापसी हो रही है और खास बात यह है कि उनकी यह वापसी इंदौरी जमीं पर है। अभय प्रशाल में 15 से 18 नवम्बर तक आयोजित होने वाली 62वीं राष्ट्रीय सीनियर कुश्ती स्पर्धा में भाग लेने के लिए यह दिग्गज पहलवान आ रहा है।
दो ओलंपिक में पदक जीतने वाले सुशील कुमार लंबे समय से एरिने से दूर थे, जिसमें चोट के साथ अन्य समस्याएं भी थी, लेकिन अब वह वापसी के लिए पूरी तरह तैयार हैं। सुशील वर्तमान में जार्जिया में तैयारियों में व्यस्त हैं और सीधे वहां से राष्ट्रीय कुश्ती स्पर्धा में भाग लेने के लिए आएंगे।

मध्यप्रदेश कुश्ती संघ के सचिव और पूर्व पप्पू यादव ने सुशील कुमार के भाग लेने की पुष्टि करते हुए बताया कि रेलवे की टीम से उनका नाम हमें भेज दिया गया है। अन्य राज्यों से भी सभी पहलवानों के भाग लेने की सहमति प्राप्त हो गई है।

यादव ने कहा कि राष्ट्रीय सीनियर कुश्ती में 29 राज्यों के अलावा सेना व रेलवे की टीमें भी स्पर्धा में शिरकत करने आ रही है। यह स्पर्धा इसलिए भी अहम है क्योंकि इसी आधार पर एशियाड व कामनवेल्थ के लिए भारतीय टीम के संभावित खिलाडिय़ों का चयन किया जाएगा।
बजरंग व साक्षी भी दिखेंगे एक्शन में : वैसे तो सीनियर राष्ट्रीय कुश्ती स्पर्धा में पुरुष वर्ग में लगभग 700 तथा महिला वर्ग में 200 पहलवान शिरकत कर रहे हैं, लेकिन सुशील के अलावा ओलंपिक पदक विजेता व एशियन चैम्पियन बजरंग पुनिया भी अपने दांव-पेच के जौहर दिखाएंगे और इस स्पर्धा में विशेष आकर्षण का केन्द्र रहेंगे।

फिल्म 'दंगल' के जरिए प्रसिद्धी पाने वाली फोगाट बहनें भी इस स्पर्धा में शिरकत कर रही हैं और फोगाट बहनों के प्रदर्शन पर भी विशेष निगाहें रहेंगी। सभी पहलवानों की सूचारू व्यवस्था को म.प्र. कुश्ती संघ के अध्यक्ष मोहन यादव, ओमप्रकाश खत्री व राकेश यादव कनाड
देखेंगे। यह तीनों ही अतिथि सत्कार, आवास, भोजन सहित अन्य समितियों के प्रमुख बनाए गए हैं।
नरसिंह भी होंगे शामिल : 4 साल का प्रतिबंध झेलने वाले नरसिंह यादव भले ही मुकाबले में नहीं उतरेंगे, लेकिन वह इस स्पर्धा में जूनियर पहलवानों का हौंसला बढ़ाने के लिए आ रहे हैं। नरसिंह के आने की पुष्टि भी आयोजन समिति को प्राप्त हो गई है। नरसिंह भले ही एरिने में नहीं उतरेंगे, लेकिन उनकी उपस्थिति पूरी स्पर्धा के दौरान रहेगी।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine



और भी पढ़ें :