शेयर बाजार में बहार, सूचकांक में 240.61 व निफ्टी में 83.50 अंकों की रही तेजी

पुनः संशोधित सोमवार, 28 मई 2018 (18:42 IST)
मुंबई। विदेशी बाजारों से मिले मिले-जुले संकेतों के बीच दवा कंपनी सन फार्मा के बेहतरीन वित्तीय प्रदर्शन और कच्चे तेल की कीमतों में आई गिरावट से उत्साहित निवेशकों की जबरदस्त लिवाली के दम पर बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सेंसेक्स 240.61 अंक की तेजी के साथ 35,165.48 अंक पर और का निफ्टी 83.50 अंक की बढ़त के साथ 10,688.65 अंक पर बंद हुआ।

कच्चे तेल की अंतरराष्ट्रीय बाजार में घटी कीमत ने निवेशकों की चालू खाता घाटा बढ़ने की आशंकाओं को दरकिनार कर दिया जिससे सेंसेक्स तेजी के साथ 35,074.32 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 35,006.50 अंक के दिवस निचले स्तर को छूने के बाद भारतीय मुद्रा की बढ़त से बल पाकर यह 35,240.96 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर तक गया और अंतत: गत दिवस की तुलना में 0.69 प्रतिशत की तेजी में 35,165.48 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 22 कंपनियां तेजी में और 8 गिरावट में रहीं।
विश्लेषकों ने बताया कि सऊदी अरब और रूस ने तेल आपूर्ति बढ़ाने के संकेत दिए हैं और अमेरिका ने भी अपने उत्पादन में किसी तरह की कटौती नहीं की है जिससे कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट आई है। कच्चे तेल की गिरावट और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन के बीच होने वाली बैठक के आयोजन की संभावनाएं तेज होने से निवेशकों को राहत मिली।

घरेलू स्तर पर सन फार्मा के चौथे तिमाही के वित्तीय परिणाम का सकारात्मक असर देखने को मिला है। कंपनी ने बीते वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में 1,310 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ अर्जित किया है, जो वित्त वर्ष 2016-17 की समान तिमाही के तुलना में 7 फीसदी अधिक है। इसके साथ ही यह कंपनी को पिछली 6 तिमाहियों में हुआ पहला लाभ है। सन फार्मा सेंसेक्स की सबसे अधिक कमाऊ कंपनी रही जबकि आईटी कंपनी टीसीएस के शेयरों में सबसे अधिक गिरावट दर्ज की गई। रुपए की मजबूती से विदेशी कारोबार का रिटर्न घटने के कारण टीसीएस के शेयर लुढ़के हैं।
निफ्टी भी मजबूती के साथ 10,648.35 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 10,709.80 अंक के दिवस के उच्चतम और 10,640.55 अंक के दिवस के निचले स्तर को छूने के बाद यह गत दिवस की तुलना में 0.79 फीसदी की बढ़त के साथ 10,688.65 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी की 34 कंपनियों में तेजी और 16 में गिरावट रहीं।

दिग्गज कंपनियों की तुलना में मझौली और छोटी कंपनियों में अधिक तेजी रही। बीएसई का मिडकैप 1.35 प्रतिशत यानी 214.67 अंक की तेजी में 16,119.08 अंक पर और स्मॉलकैप 1.60 प्रतिशत यानी 274.43 अंक की तेजी में 17,425.86 अंक पर बंद हुआ। बीएसई में कुल 2,860 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ जिनमें 1,843 में तेजी, 842 में गिरावट और 175 कंपनियों के शेयरों में कोई बदलाव नहीं हुआ।
यूरोपीय बाजारों में ब्रिटेन का एफटीएसई 1.13 प्रतिशत और जर्मनी का डैक्स 1.47 प्रतिशत की गिरावट में रहा। एशियाई बाजारों में चीन का शंघाई कंपोजिट 0.20 प्रतिशत की गिरावट में जबकि जापान का निक्की 0.13, हांगकांग का हैंगशैंग 0.67 तथा दक्षिण कोरिया का कोस्पी 15.38 प्रतिशत की तेजी में बंद हुआ।

बीएसई के 20 समूहों में से आईटी के सूचकांक में 1.72 और टेक में 1.33 प्रतिशत की गिरावट रही। पूंजीगत वस्तुओं के समूह में 2.50, तेल एवं गैस में 2.47, पीएसयू में 2.45, स्वास्थ्य में 2.11, बेसिक मैटेरियल्स में 1.34, सीडीजीएस में 1.37, ऊर्जा में 1.16, एफएमसीजी में 0.55, वित्त में 1.37, इंडस्ट्रियल्स में 1.71, दूरसंचार में 0.10, यूटिलिटीज में 1.34, ऑटो में 1.12, बैंकिंग में 1.18, सीडी में 0.09, धातु में 0.95, बिजली में 1.25 और रियल्टी में 1.58 प्रतिशत की तेजी रही।
सेंसेक्स में सबसे अधिक बढ़त सन फार्मा के शेयरों में 7.11 प्रतिशत की रही। इसके अलावा कोल इंडिया में 3.22, एलएंडटी में 2.52, एशियन पेंट्स में 2.31, भारतीय स्टेट बैंक में 1.97, मारुति में 1.86, यस बैंक में 1.52, एचडीएफसी बैंक में 1.52, एक्सिस बैंक में 1.49, टाटा स्टील में 1.48, बजाज ऑटो में 1.45, एनटीपीसी में 1.36, हीरो मोटोकॉर्प्स में 1.30, आईटीसी में 1.18, डॉ. रेड्डीज में 0.97, आईसीआईसीआई बैंक में 0.93, टाटा मोटर्स में 0.68, एचडीएफसी में 0.57, हिन्दुस्तान यूनीलीवर में 0.39, ओएनजीसी में 0.34, कोटक बैंक में 0.22 और इंडसइंड बैंक में 0.11 प्रतिशत की तेजी रही।
टीसीएस में 2.39, पॉवर ग्रिड में 2.31, इंफोसिस में 1.16, महिंद्रा एंड महिंद्रा में 0.90, भारती एयरटेल में 0.65, विप्रो में 0.60, अदानी पोटर्स में 0.28 और रिलायंस में 0.08 प्रतिशत की गिरावट रही। (वार्ता)


और भी पढ़ें :