शेयर बाजार में फिर झटके की तैयारी

कमल शर्मा|
अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में क्रूड के दाम 126 डॉलर प्रति बैरल पहुँचने और अमेरिका में सब प्राइम मार्गेज संकट के तहत निवेश बैंकों के लिए तगड़े नुकसान की नई कड़ी डिसक्‍लोजर शर्तों से दुनिया भर के शेयर बाजारों में एक बार फिर डाँवाडोल की स्थिति बनती दिख रही है।

गोल्‍डमैन सेश ने अगले 6 से 24 महीनों में क्रूड के दाम 200 डॉलर प्रति बैरल पहुँचने की जो भविष्‍यवाणी की है उसे गंभीरता से लिया जा रहा है। क्रूड के दाम यदि इस ऊँचाई की ओर बढ़ते हैं तो मंदी के बादल दुनिया भर में छा सकते हैं। इस समय समूची दुनिया क्रूड के ऊँचे दाम के साथ खाद्यान्‍न की कमी का सामना कर रहा है। हालाँकि यह संकट कार्टेल का नतीजा है, जिसकी अगुवाई खुद अमेरिका ही कर रहा है।

अमेरिकी फैड रिजर्व ने बिगड़ती अर्थव्‍यवस्‍था को सुधारने के लिए ब्‍याज दर में कटौती को मुख्‍य हथियार बनाया है। वहाँ ब्‍याज दर अब दो फीसदी आ गई है जिसका सबसे ज्‍यादा लाभ भारत और चीन को मिल रहा है। अमेरिकी कंपनियाँ और फंड अपना निवेश इन्‍हीं दो देशों में सबसे ज्‍यादा कर रही हैं क्‍योंकि यहाँ रिटर्न बेहतर एवं सुरक्षित है।

मेरिल लिंच एंड कंपनी के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी जॉन थेन का कहना है कि एशिया में निवेश करने के लिए भारत में सबसे बेहतर मौके हैं। भारत में पूँजी पूंजी प्रवाह लगातार बढ़ता रहेगा। जब तक अमेरिकी अर्थव्‍यवस्‍था में सुधार नहीं होता समूचे एशिया में विदेशी पैसे का आना जारी रहेगा।

जॉन थेन मानते हैं कि अमेरिका में उपभोक्‍ता कर्ज और क्रेडिट कार्ड्‍स के डिफाल्‍टर बढ़ रहे हैं। अमेरिका में घरों की लगातार घटती कीमतें, खाद्य वस्‍तुओं के बढ़ रहे दाम, महँगी होती एनर्जी और बेरोजगारों की बढ़ती फौज अमेरिकी अर्थव्‍यवस्‍था के लिए घातक हो रही है। अमेरिकी अर्थव्‍यवस्‍था में अगले 6 से 12 महीने तक स्थिति में सुधार नहीं होगा और बुरी हालत बनी रहेगी।

बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज यानी बीएसई सेंसेक्‍स 12 मई से शुरू हो रहे सप्‍ताह में 17473 से 16261 के अंक के बीच घूमता रहेगा, जबकि नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंज यानी एनएसई का निफ्टी 5181 से 4832 अंक के बीच रहने की संभावना है।

तकनीकी विश्‍लेषक हितेंद्र वासुदेव का कहना है कि तकनीकी चार्ट जो स्थिति बना रहा है उसके मुताबिक यदि सेंसेक्‍स ने जल्‍दी 17735 अंक को पार नहीं किया तो शेयर बाजार में खासी गिरावट देखने को मिल सकती है। साप्‍ताहिक रेसिस्टेंस 17050-17422-17735 अंक पर देखने को मिलेगा। साप्‍ताहिक स्‍पोर्ट 16365-15308-14677 अंक पर मिलेगा। यदि सेंसेक्‍स 17735 अंक को पार करता है तो इसके बढ़कर 18193-18426 अंक तक जा सकता है।

अगले सप्‍ताह ब्‍लू स्‍टार, वोल्‍टास, हिताची, आरसीएफ, चंबल फर्टिलाइजर, गुजरात जेएसएम होटल, ईआईएच एसोसिएट्स होटल, बोंगाईगाँव रिफाइनरी, चेन्‍नई पेट्रोलियम, टीएनपीएल, सनशिल्‍ड कैमिकल, साउथ एशिया पेट्रोकैमिकल्‍स, गेल, लुपिन, आरती ड्रग्‍स, यूनिकैम लैबोरेट्रीज, सनफार्मा, ओमनिटेक सॉल्‍यूशंस, आरएस सॉफ्टवेयर, एमआरओ टेक और जॉयलोक सिस्‍टम सहित अनेक कंपनियाँ अपने सालाना नतीजे पेश करेंगी।

इस सप्‍ताह निवेशक एप्‍कोटेक्‍स इंडस्‍ट्रीज, आईआरबी इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर, पंजाब नेशनल बैंक, लुपिन, हिताची होम एंड लाइट, चंबल फर्टिलाइजर, मर्केटर लाइन, शीपिंग कार्पोरेशन ऑफ इंडिया, प्राज इंडस्‍ट्रीज और पावर ग्रिड कार्पोरेशन पर ध्‍यान दे सकते हैं। आने वाले दिनों में आईटी, फार्मा और टेलीकॉम कंपनियों के शेयरों में निवेश बढ़ता दिखाई देगा।

• य‍ह लेखक की निजी राय है। किसी भी प्रकार की जोखिम की जवाबदारी वेबदुनिया की नहीं होगी।