क्रूड, डॉलर, मानसून से तय होगी शेयर बाजार की चाल

कमल शर्मा| Last Updated: गुरुवार, 30 अक्टूबर 2014 (18:43 IST)
भारतीय शेयर बाजार की अगली चाल अब क्रूड, डॉलर और मानसून तय करेंगे। तेल उत्‍पादक देशों के संगठन ओपेक ने जहाँ क्रूड की पर्याप्‍त आपूर्ति की बात कही है वहीं कुछ विकसित देशों के इशारे पर अपने कॉर्टेल के माध्‍यम से इसके दाम नई ऊँचाई पर ले जाने में सफल हुआ है, लेकिन, मजबूत हो रहा अमेरिकी डॉलर कच्‍चे मालों के आयात को और महँगा बना रहा है, जिससे बढ़ती महँगाई को रोकने के प्रयास को धक्‍का लगेगा।

अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में क्रूड नए रिकॉर्ड स्‍तर 128 डॉलर प्रति बैरल पहुँच गया है, जिसके जल्‍दी ही 141 डॉलर तक पहुँचने की भविष्‍यवाणी की गई है। क्रूड में आग लगाकर भारत, चीन सहित अनेक विकासशील देशों की तेज गति से बढ़ रही आर्थिक विकास दर को ब्रेक लगाने की कोशिश की जा रही है।

क्रूड के बढ़ रहे दाम से दुनिया भर में आवश्‍यक खाद्य वस्‍तुओं के भाव आसमान पहुँच रहे हैं। इस बीच, भारतीय रुपया अमरीकी डॉलर की तुलना में कमजोर पड़ता जा रहा है और अब यह 43 रुपए के स्‍तर पर आ गया है, जिसकी वजह से तेल सहित अनेक कच्‍चे मालों का आयात महंगा होता जा रहा है।

क्रूड और डॉलर की स्थिति ने सरकार के महंगाई रोकने के प्रयास को काफी मुश्किल बना दिया है, लेकिन, मानसून के केरल में 29 मई को दस्‍तक देने की भविष्‍यवाणी सुखद है।

शेयर बाजार में आने वाले दिनों में क्रूड, डॉलर और मानसून महत्‍वपूर्ण होंगे और बाजार की दिशा को तय करने वाले कारक बनेंगे। देश में इस साल भी सामान्‍य मानसून रहने की भविष्‍यवाणी की गई है। केरल राज्‍य में मानसून 29 मई को दस्‍तक देगा जो अपने निर्धारित समय से चार दिन पहले आएगा। सामान्‍य मानसून से कमोडिटी के बढ़ते दामों पर कुछ अंकुश लगने में मदद मिलेगी।

स्‍टील और सीमेंट कंपनियों ने आखिरकार बढ़ते दामों को कम किया है, जिससे औद्योगिक गतिविधियों में बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है और कार्पोरेट जगत से अगले नतीजे बेहतर आ सकते हैं, लेकिन यह तय है कि हेज फंड आने वाले दिनों में कमोडिटी और शेयर बाजारों में बड़ी उथल पुथल कर सकते हैं।

बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज यानी बीएसई सेंसेक्‍स 20 मई से शुरु हो रहे सप्‍ताह में 17944 अंक से ऊपर बंद होने पर 18266 अंक तक जा सकता है। इसे 16877 अंक पर स्‍पोर्ट मिलेगा, जबकि नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंज यानी एनएसई का निफ्टी 5277 अंक से ऊपर बंद होने पर 5400 अंक तक जा सकता है। इसका स्‍पोर्ट स्‍तर 4977 अंक है। शेयर बाजार 19 मई सोमवार को बुद्ध पूर्णिमा के उपलक्ष में बंद हैं।

तकनीकी विश्‍लेषक हितेंद्र वासुदेव का कहना है कि शेयर बाजार में साप्‍ताहिक रेसीसटेंस 17600-17773 अंक पर देखने को मिलेगा। साप्‍ता‍हिक स्‍पोर्ट 17159-16821-16546 अंक पर। शेयर बाजार में यदि गिरावट आती है और साप्‍ताहिक बंद 16546 अंक पर होता है तो बाजार का सकारात्‍मक रुख बिगड़ जाएगा और पिछले सप्‍ताह की बढ़त साफ हो जाएगी। निवेशकों को इस सप्‍ताह के लिए रणनीति के तहत 17735-18431 अंक पर अपनी पोजीशन हल्‍की करनी चाहिए1

अगले सप्‍ताह फिनिक्‍स लैम्‍प, मुकुंद इंजीनियरिंग, कर्नाटक बैंक, लक्ष्‍मी मशीन वर्क्‍स, कोल्‍टे पाटिल डेवलपर्स, एस कुमार नेशनवाइड, टेक महिंद्रा, सुजलॉन एनर्जी, जीएनएफसी, टाटा टेली, जीएमआर इंफ्रा, डॉ रेड्डी लैब, आईसीआई इंडिया, जेके सीमेंट, बैंक ऑफ बड़ौदा, भारत फोर्ज, थर्मेक्‍स, गेब्रियल, हवेल्‍स इंडिया, राणा शुगर, बालाजी टेलीफिल्‍म, मुंजाल शा, ट्रांसपोर्ट कार्पोरेशन ऑफ इंडिया, आईटीसी, भेल, टाटा कॉफी, डालमिया सीमेंट, बजाज होल्डिंग, क्‍युमिंस और हर्क्‍युलिस होईस्‍ट सहित अनेक कंपनियां अपने सालाना नतीजे पेश करेंगी।

इस सप्‍ताह निवेशक सोमानी सिरामिक्‍स, ओमनीटेक साल्‍यूशंस, गोवा कार्बन, भेल, रेप्रो इंडिया, सिटी यूनियन बैंक, लक्ष्‍मी मशीन वर्क्‍स, कंटेनर कार्पोरेशन, चंबल फर्टिलाइजर, लायड इलेक्ट्रिक और कर्नाटक बैंक पर ध्‍यान दे सकते हैं।

निवेशकों और कारोबारियों की नजर अब मानसून की हलचल पर रहेगी जिससे सीमेंट, एफएमसीजी और फर्टिलाइजर शेयरों में खासी हलचल देखने को मिल सकती है।