ओरल सेक्स है लड़कियों की 'पसंद'

नेशनल हेल्थ स्टैटिक सर्वे की रिपोर्ट

WD|
करने प्रवृति टीनएजर्स में कम हो रही है, जबकि युवाओं में अब भी ओरल सेक्स का क्रेज़ बना हुआ है। अमेरिका में हाल ही में जारी हुई नेशनल हेल्थ स्टैटिक रिपोर्ट में कहा गया है कि हालांकि पिछले आंकड़ों की तुलना में टीनएजर्स में ओरल सेक्स करने प्रवृति में कमी आई है, लेकिन यंगस्टर्स में ओरल सेक्स करने की आदत आंशिक रूप से बढ़ी है।
रिपोर्ट में कहा गया है कि लड़कों की तुलना में लड़कियां पहली बार सेक्स करने के दौरान ओरल सेक्स को प्राथमिकता देती हैं, क्योंकि वे प्रेग्नेंसी और अन्य यौन बीमारियों जैसे कॉन्ट्रेक्टिंग सेक्सुअल ट्रांसमिटेड डिसीज़ से बचना चाहती हैं।


यौन बीमारियों और प्रेग्नेंसी से बचने के लिए लड़कियां मुख मैथुन करना पसंद करती हैं।


रिपोर्ट में कहा गया है कि 15 से 24 वर्ष की आयु के बीच के दो तिहाई युवाओं ने आवश्यक रूप से ओरल सेक्स किया। लड़कियों ने खास तौर पर पहली बारी से पहले कई बार ओरल सेक्स किया।

सर्वे के अनुसार 26 प्रतिशत लड़कियों ने योनि संभोग से पहले ओरल सेक्स किया, जबकि 27 प्रतिशत लड़कियों ने एक बार योनि संभोग के बाद ओरल सेक्स का आनंद लिया। 7.4 प्रतिशत लड़कियां ऐसी भी रहीं, जिन्होने योनि संभोग और ओरल सेक्स का मज़ा एक साथ लूटा।

पेरेंटहूड फेडरेरेशन ऑफ अमेरिका की वाइस प्रेसिडेंट लेज़ली केंटर ने इस बारे में युवाओं के स्वास्थ्य पर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि ओरल सेक्स टीएएजर्स के लिए हौवा है। उन्हें यह जान लेना चाहिए कि यह पूरी तरह बीमारी मुक्त नहीं है। सर्वे में ओरल सेक्स से होने वाले संभावित खतरों पर चिंता भी जताई गई है। (एजेंसियां)


और भी पढ़ें :