आमुख » वित्त, संपत्ति, संविदाएँ और वाद » संपत्ति का अधिकार
भाग 12: वित्त, संपत्ति, संविदाएँ और वाद: 1[अध्याय 4 -- संपत्ति का अधिकार
Feedback Print Bookmark and Share
« पिछला पृष्ठ   अगला पृष्ठ »

300क. विधि के प्राधिकार के बिना व्यक्तियों को संपत्ति से वंचित न किया जाना--किसी व्यक्ति को उसकी संपत्ति से विधि के प्राधिकार से ही वंचित किया जाएगा, अन्यथा नहीं।

1 संविधान (चवालीसवाँ संशोधन) अधिनियम, 1978 की धारा 34 द्वारा (20-6-1978 से) अंतःस्थापित।

Indian Constitution in Hindi | Constitution of India Hindi | Constitution of India in Hindi | India Constitution | Constitution of India | Indian Constitution Online | Indian Constitution | Bharat ka Samvidhan
मुख पृष्ठ | हमारे बारे में | आपके सुझाव | विज्ञापन दें | मित्र को भेजें | पिछले अंक | अस्वीकरण
© 2009-10 Webdunia.com