0

गणतंत्र को निगलता जातिवादी तंत्र

शनिवार,जनवरी 26, 2019
0
1
भारत का संविधान 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ तभी से गणतंत्र की शुरुआत हुई। हम 70वें गणतंत्र दिवस को मनाने जाएंगे। क्या ...
1
2
26 जनवरी 2019 को ज्योतिष की नजर से देखें, तो इस दिन से अगले साल तक क्या कुछ खास रहेगा और क्या परिवर्तन आएंगे, इसका ...
2
3
ब्रिटिश शासन के दौरान देशवासियों के दिलों में गुलामी के खिलाफ आग भड़काने वाले सिर्फ दो शब्द थे- 'वंदे मातरम्'। बंगाली के ...
3
4
यानी जब भी देशसेवा का जिक्र हो तो उसका सीधा सा अर्थ आम नागरिक सेना के जवान से ही लेता है। ये सही है कि सैनिक देश की ...
4
4
5
कभी मैं गुलामी की जंजीरों में जकड़ी थी। मेरे सपूतों ने अपनी जान की बाजी लगाकर मुझे उन कठोर जंजीरों से मुक्त किया। उस समय ...
5
6
भारत संघ में ऐसे सभी क्षेत्र शामिल होंगे, जो इस समय ब्रिटिश भारत में हैं या देशी रियासतों में हैं या इन दोनों से बाहर, ...
6
7
भारत की कुछ विशेषताएं ऐसी भी हैं जो पूरी दुनिया में इसे सबसे अलग, आकर्षक और खूबसूरत बनाती हैं। जानिए ऐसी ही 5 ...
7
8
कहा जाए तो 26 जनवरी को ही हमारे गणतंत्र का जन्म हुआ और भारत देश एक गणतांत्रिक देश बना। हमारे देश को आजादी तो 15 अगस्त ...
8
8
9
प्रतिवर्ष 26 जनवरी को हम गणतंत्र दिवस बड़े ही धूमधाम से मनाते हैं। लेकिन क्या तुम जानते हो कि जो राष्ट्रीय ध्वज हम ...
9
10
मंच पर पहुंचकर आप सबसे पहले तो सभा में उपस्थित सभी लोगों का अभिवादन करें, अपना परिचय दें, अपना नाम तथा आप कौन-सी कक्षा ...
10
11
सच तो यह है कि आपमें से हर एक अगर कुछ बेसिक बातों को आदत में शामिल कर लें तो राष्ट्र निर्माण में बेहतरीन योगदान दे सकता ...
11
12
भारतीय संविधान सभा की पहली बैठक 9 दिसंबर 1946 को हुई, जिसमें भारतीय नेताओं और अंग्रेज कैबिनेट मिशन ने भाग लिया। भारत को ...
12
13
भारत को सर्वगुण संपन्न देश बनाने के लिए एक ओर तो हमें विषमता व शोषण वाली ताकतों से संघर्ष करना होगा तथा साथ ही अपने ...
13
14
राष्ट्रीयता से ओतप्रोत 'जन गण मन' राष्ट्रगीत को बंगाली साहित्यकार और नोबल पुरस्कार से सम्मानित गुरुदेव रवींद्रनाथ ...
14
15
रिपब्लिक डे जैसे खास मौकों पर अधिकतर जगहों पर आयोजन होते हैं। ऐसे में मंच पर जाकर स्पीच देने की जरूरत भी कई लोगों को ...
15
16
एक ऐसा गान जो प्रत्येक देशवासी की जुबान पर रहे। ऐसी धुन जिसके बजते ही तन-मन देशप्रेम की भावना में रम जाए। ऐसी प्रस्तुति ...
16
17
26 जनवरी 2002 को भारतीय ध्‍वज संहिता में संशोधन किया गया और स्‍वतंत्रता के कई वर्ष बाद भारत के नागरिकों को अपने घरों, ...
17
18
सत्य और अहिंसा का, देता जो मंत्र है हर्षोल्लास भरा, दिवस गणतंत्र है। अबला वृद्ध, नर नारी के, ह्रदय में देश प्रेम, ...
18
19
बीसवीं शताब्दी में जब स्वदेशी आंदोलन ने ज़ोर पकड़ा तो एक राष्ट्रीय ध्वज की ज़रूरत महसूस हुई। स्वामी विवेकानंद की शिष्या ...
19