0

26 जनवरी : देश के सितारे

मंगलवार,जनवरी 25, 2011
0
1
वृषभ- वृषभ लग्न वाले जातक पृथ्वी तत्व प्रधान होते है। यह स्थिर लग्न है अतः ऐसे जातक स्थिर स्वभाव के एक जगह स्थिर होकर कार्य करन वाले होते है। इस लग्न का स्वामी शुक्र है व रंग चमकीला सफेद है, इसकी दशा 20 वर्ष की होती है। वर्ष लग्न में शुक्र का भ्रमण ...
1
2
पौष के महीने में जब चन्द्रमा अपने उच्च वृषभ राशि शुक्र द्वारा देखा जाता हो, गुरु अपने घर में शनि द्वारा देखा जाता हो तथा इसी मध्य सूर्य मकर राशि में प्रवेश करे तो यह योग अति दुर्लभ होता है। ध्यान रहे, शनि व दैत्यों के गुरु शुक्र चन्द्रमा को देखते ...
2
3
पौष शुक्ल पक्ष की दशमी, 14 जनवरी को भगवान भास्कर का मकर राशि में आगमन होगा। शुक्रवार में लगने से यह संक्रांति शुभ है। इस का गमन दक्षिण है वहीं दिशा दृष्टि नैऋत्य में है। कुछेक को संक्रांति दशमी को होने से रोग व कष्ट बढ़ेंगे। बालक कुछ कष्ट पाएँगे। ...
3
4
4 जनवरी 2011, मंगलवार को साल के पहले सूर्यग्रहण को लेकर उत्सुकता का माहौल नजर आया। खासतौर पर धार्मिक मान्यताओं पर विश्वास रखने वालों की दिनचर्या इससे खासी प्रभावित हुई। ग्रहण के दौरान अधिकांश लोग अपने-अपने घर, दफ्तर और प्रतिष्ठानों में घुसे रहे। ...
4
4
5
इस वर्ष विश्व में छ: ग्रहण पड़ेंगे। इसमें तीन ग्रहण भारत‍ में दिखाई देंगे और दो ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देंगे। ग्रहणों का शुभ-अशुभ महत्व दिखाई (दृष्ट) देने पर ही होता है। जहाँ भी ग्रहण दृष्‍ट होंगे वही मान्य होंगे अन्यत्र जगह कोई मान्य नहीं है।
5
6
एक जनवरी ग्यारह को, ग्यारह बजकर- ग्यारह मिनट और ग्यारह सेकंड को कुंभ लग्न का उदय हुआ था। इस लग्न में जन्मे जातक इकहरे शरीरवाले होते है। लग्न व द्वादश व्यय भाव का स्वामी अष्टम भाव में अपने मित्र बुध की राशि कन्या में होकर अष्टम भाव में होने से इसके ...
6
7
सन् 2010 महँगाई की मार के साथ-साथ मंत्रियों पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप, राम-जन्मभूमि पर महत्वपूर्ण फैसले, देश की जनता के शांतिपूर्ण रूख, 26 नवंबर के आतंकवादियों को सजा न मिलने, प्रधानमंत्री की बढ़ती मुश्किलें, संसद नहीं चलने, सोने-चाँदी के भावों में ...
7
8
मीन राशि वाले जातकों के लिए यह वर्ष सर्वत्र उन्नति वाला रहेगा। जनवरी में गुरु ऐसे स्थान पर विराजमान है जो राज्य संबंधी योग बनाता है। अत: चारों तरफ से प्रगति दिलाएगा। फरवरी मार्च का समय व्यस्तता में व्यतित होगा। किसी मित्र के सहयोग से व्यापार में ...
8
8
9
मेष: इस वर्ष स्वास्थ्य बेहतरी के संकेत दे रहा है। उत्साह, उमंग और सकारात्मक ऊर्जा में वृद्धि रहेगी। किन्तु तामसिक आहारों के प्रयोग व छोटी-छोटी बातों में उलझने से बचें। प्रतियोगी क्षेत्रों में सफलता का परचम लहरा उठेगा। कारोबार व व्यापार के मामले में ...
9
10

नववर्ष में बारह राशियाँ

बुधवार,दिसंबर 22, 2010
मेष : दीपावली से मध्य जनवरी 2011 तक कार्यक्षेत्र, निवेश, शेयर मार्केट, संतान और संपत्ति से जुड़े निर्णय गलत हो सकते हैं। मार्च-अप्रैल में नौकरी, व्यापार, वित्तीय, कानूनी क्षेत्रों में प्रतिकूल निर्णय लेना हानिकारक हो सकता है। जून से दिवाली तक नए ...
10
11

2011 का साल, महिला शक्ति के नाम

बुधवार,दिसंबर 22, 2010
भारत वर्ष- भारत वर्ष का संवैधानिक जन्म 15 अगस्त, 1947 को रात्रि 12 बजे हुआ। भारत की वृष लग्न कुंडली वर्तमान में 6 वर्ष सूर्य की महादशा 11 सितंबर, 2009 से 11 सितंबर, 2015 तक रहेगी। भारत की कुंडली के तृतीय भाव में- सूर्य, चंद्र, शनि, बुध और शुक्र ...
11
12
काशी के विख्यात ज्योतिष विद्वान आचार्य प्रो. चंद्रमौलि उपाध्याय के अनुसार इस दीपावली से अगली दीपावली (2011) तक देश में महँगाई और बढ़ने का सिलसिला जारी रहेगा। मई 2011 तक यह परिस्थिति बनी रहेगी। इस दरम्यान राष्ट्रीय स्तर पर आतंकवाद, दुर्घटना, प्राकृतिक ...
12