बवाना समेत तीन विधानसभा सीटों पर मतदान...

गोवा में पर्रिकर की प्रतिष्ठा दांव पर

नई दिल्ली| Last Updated: बुधवार, 23 अगस्त 2017 (12:17 IST)
नई दिल्ली/पणजी। दिल्ली के बवाना और गोवा में पणजी तथा वालोपी विधानसभा सीटों पर
हो रहे के लिए बुुुुधवार सुबह शुरू हो गया।
राजधानी दिल्ली की बवाना सीट पर भाजपा, आप और कांग्रेस के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है। उपचुनाव में 2.94 लाख से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करने के पात्र हैं। सभी मतदान केंद्रों पर इस्तेमाल की जा रही ईवीएम में वोटर वेरीफाइएबल पेपर ऑडिट ट्रायल (वीवीपीएटी) की व्यवस्था है। अधिकारियों ने बताया कि मतदान सुबह आठ बजे शुरू हुआ।
विधानसभा की यह सीट उत्तर-पश्चिमी दिल्ली में आती है और अनुसूचित जाति के उम्मीदवार के लिए आरक्षित है। कुल 379 मतदान केंद्रों पर हो रहे इस चुनाव में आठ उम्मीदवार मैदान में हैं। मतगणना 28 अगस्त को होगी। इस उपचुनाव को तीनों ही दल अपने राजनीतिक प्रभाव के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण मान रहे हैं।

विधानसभा में बहुमत रखने वाली आम आदमी पार्टी के पास 65 विधायक हैं। लेकिन निकाय चुनाव, रजौरी गार्डन विधानसभा उपचुनाव और पंजाब एवं गोवा चुनाव में एक के बाद करारी हार का सामना करने के बाद मौजूदा उपचुनाव में जीत आप के मनोबल को बढ़ा सकती है। आप ने विधानसभा क्षेत्र से रामचंदर को उतारा है।
70 सदस्यीय विधानसभा में महज चार सदस्यों वाली भाजपा को उम्मीद है कि वह अपनी जीत के क्रम को दिल्ली में भी बरकरार रखेगी। भाजपा यहां वापसी के लिए कड़ी मेहनत कर रही है।

एक अन्य बड़ी प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस है। वह विधानसभा में शून्य पर सिमट जाने के बाद अपना खाता खोलने के लिए कड़ी मशक्कत कर रही है। कांग्रेस ने बवाना से तीन बार विधायक रह चुके सुरेंद्र कुमार को टिकट दी है।
विधानसभा क्षेत्र में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनके मंत्रिमंडल के सहयोगियों एवं शीर्ष आप नेताओं ने भारी प्रचार किया है।

भाजपा ने वेद प्रकाश को टिकट दी है जिन्होंने वर्ष 2015 में आप के टिकट पर विधानसभा चुनाव जीता था। इस साल मार्च में उन्होंने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया और आप छोड़ कर भाजपा में शामिल हो गए थे।

इस क्षेत्र में पुरूष मतदाताओं की संख्या 1,64,114 है और महिला मतदाताओं की संख्या 1,30,143 है। तीसरे लिंग वाले मतदाताओं की संख्या 25 है। प्रति मतदान केंद्र मतदाताओं की औसत संख्या 776 है। वर्ष 2013 और 2015 में बवाना विधानसभा क्षेत्र में मतदान का प्रतिशत क्रमश: 61.14 और 61.83 रहा है।

उधर गोवा में पणजी तथा वालोपी विधानसभा सीटों पर मतदान कड़ी सुरक्षा में सुबह आठ बजे शुरू हुआ और गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर तथा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की गोवा इकाई के पूर्व प्रमुख सुभाष वेलिंगर सबसे पहले मतदान करने वालों में थे। केन्द्र में रक्षामंत्री रहे मनोहर पर्रिकर भी चुनाव लड़ रहे हैं।


इन विधानसभा क्षेत्रों में जोरदार बारिश हो रही थी, लेकिन इससे मतदाताओं के उत्साह में कोई कमी नहीं आई। चुनाव आयोग ने सुरक्षा के व्यापक इंतजाम कर रखे हैं और करीब एक हजार सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया है।(एजेंसियां)

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :