‘यीशू की आत्मा’ के प्रचारक टॉम बुरे फंसे

Last Updated: शुक्रवार, 21 अप्रैल 2017 (23:48 IST)
मन्नार। एक सरकारी जमीन पर 30 फीट लंबा धातु का क्रॉस स्थापित कराने के सिलसिले में एक ईसाई प्रचारक के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। राजस्व अधिकारियों ने बाद में इस कथित सरकारी जमीन से क्रॉस हटा दिया। पुलिस ने आज बताया कि ‘यीशू की आत्मा’ के प्रचारक टॉम स्केरिया के खिलाफ आईपीसी की धारा 447 और भू-संरक्षण कानून के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया है।
उदमबनचोला के अतिरिक्त तहसीलदार की शिकायत के आधार पर यह प्राथमिकी दर्ज की गई पर्वतीय इलाके के ऊपर ‘आध्यात्मिक पर्यटन’ की आड़ में लगवाया गया क्रॉस कल मशीनों की मदद से हटाया गया।

अधिकारियों ने बताया कि खुद को ‘यीशू की आत्मा’ कहने वाले कुछ लोगों की ओर से कथित तौर पर अतिक्रमित 30 एकड़ जमीन पर क्रॉस स्थापित कराया गया था। केरल कैथलिक बिशप्स कॉन्‍फ्रेंस ने जून 2001 में स्केरिया की धार्मिक गतिविधियों पर पाबंदी लगा दी थीं।
इस बीच, मुख्यमंत्री पी विजयन की ओर से अतिक्रमित जमीन से क्रॉस हटाने पर नाखुशी जाहिर करने को लेकर भाजपा ने आज उन्हें आड़ेहाथ लिया। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष कुम्मनम राजशेखरन ने बताया कि क्रॉस हटाने को लेकर हुआ विवाद दुर्भाग्यपूर्ण है।

खबरों के मुताबिक, क्रॉस हटाने पर नाखुशी जाहिर करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा था, एक बड़े तबके की आस्था से जुड़े क्रॉस के प्रतीक में क्या गलत था? ऐसे प्रतीक के खिलाफ कार्रवाई करते हुए अधिकारियों को सरकार से संपर्क करना चाहिए था। उन्होंने कहा कि सरकार ने मामले को बहुत गंभीरता से लिया है।
कुम्मनम ने सवाल किया कि मुख्यमंत्री अब क्रॉस हटाने पर नरम रवैया क्यों अपना रहे हैं, जबकि पहले उन्होंने ही एक सुन्नी संप्रदाय की ओर से मस्जिद बनाने के कदम की आलोचना की थी। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :