सफल बनना हैं तो अपनाएं श्रीराम के 5 गुण


भगवान राम विषम परिस्थितियों में भी नीति सम्मत रहे। उन्होंने वेदों और मर्यादा का पालन करते हुए सुखी राज्य की स्थापना की। स्वयं की भावना व सुखों से समझौता कर न्याय और सत्य का साथ दिया। फिर चाहे राज्य त्यागने, बाली का वध करने, रावण का संहार करने या सीता को वन भेजने की बात ही क्यों न हो। जानिए भगवान राम को 5 ऐसे गुण जिनकी वजह से वे जीवन में सफल माने गए...




और भी पढ़ें :