भारतीय अमेरिकी छात्रा की कार दुर्घटना में मौत

Last Updated: बुधवार, 20 सितम्बर 2017 (12:10 IST)
माइनापोलिस। मिनेसोटा पुलिस डिपार्टमेंट ने एक कार ड्राइवर माइकल लॉरेंस कैम्बेल को वाहन से हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। इस दुर्घटना में कार ड्राइवर ने यूनिवर्सिटी ऑफ सेंट थॉमस की छात्रा को वाहन से कुचल दिया। समझा जाता है कि वाहन चालक ने कार को एक स्टॉप लाइट से टकरा दिया।

सेंट पॉल, मिनेसोटा में यूनिवर्सिटी ऑफ सेंट थॉमस की एक भारतीय अमेरिकी छात्रा की 17 सितंबर की सुबह मौत हो गई। जिस कार में रिया सवार थी वह उत्तरपूर्व माइनापॉलिस में एक स्टॉप लाइट में नियंत्रण से बाहर होकर टकरा गई।

बीस वर्षीय रिया पटेल अपने जूनियर वर्ष में बिजनेस मेजर की छात्रा थीं और उन्हें दुर्घटना स्थल पर ही मृत घोषित कर दिया गया। माइनापॉलिस पुलिस डिपार्टमेंट ने एक रिपोर्ट में कहा है कि अधिकारी पटेल को कार से बाहर निकालने में सफल हुए थे।
उन्हें प्राथमिक चिकित्सा सुविधा भी दी गई और इसके बाद पराचिकित्सक लोग
आए।

लेकिन किशोरी के सिर में गंभीर चोट लगने के कारण मौत हो गई। इस आशय की जानकारी हेनीपिन काउंटी, मिनेसोटा कोरोनर के ऑफिस की रिपोर्ट में दी गई है। कार का ड्राइवर-माइकल लॉरेंस कैम्बेल-घटनास्थल से पैदा ही भाग खड़ा हुआ और उस समय उसके साथ गर्लफ्रेंड भी थी। मामले में उसकी गर्लफ्रेंड को नामित नहीं किया गया है।

माइनापॉलिस पुलिस ने कैम्बेल को 19 सितंबर को गिरफ्तार कर लिया गया। कैम्बेल ने अपना पहचानपत्र भागने से पहले पटेल के पास छोड़ दिया था।
कैम्बेल (21) पर आरोप है कि जब वह कार चला रहा था तो शराब के नशे में था। दुर्घटना करीब सुबह 3 बजकर 50 मिनट पर हुई। पुलिस रिपोर्ट्‍स में कहा गया है कि
उसे बिना किसी जमानत के हेनीपिन काउंटी, मिनेसोटा जेल में रखा गया है। पटेल और कैम्बेल फेसबुक फ्रेंड्स थे लेकिन पुलिस ने इस संबंध में कोई जानकारी उजागर नहीं की है कि दुर्घटना से पहले तीनों कहां गए थे।

रिया पटेल, भरत और देवयानी पटेल, इडन प्रेयरी, मिनेसोटा की बेटी थी। पटेल का परिवार मूल रूप से लंदन से आया है और रिया ने अपना हाई स्कूल, इंटरनेशनल स्कूल ऑफ मिनेसोटा से पूरा किया है। यूनिवर्सिटी ऑफ सेंट थॉमस में पटेल, फाइनेंस का अध्ययन कर रही थीं और वे ऑपस स्कूल ऑफ बिजनेस में थी। उनके 2019 में ग्रेजुएट होने की संभावना थी।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :