ऑल यूएसए कम्यू‍न‍िटी कॉलेज की टीम में शीतल सिंह भी शामिल

Last Updated: गुरुवार, 20 जुलाई 2017 (10:45 IST)
न्यू यॉर्क। 'द ऑल यूएसए कम्युनिटी कॉलेज की अकादमिक टीम में दो वर्षीय कॉलेज छात्रों को अकादमिक श्रेष्ठता और बौद्धिक क्षमता का कक्षाओं से बाहर निकाल कर समाज की सेवा में लगाने की बात कही गई।' इस आशय की श्रेष्ठता को सम्मान देने के लिए सोसायटी ने कॉलेज छात्रों का इस तरह सम्मान किया।
इस सम्मान के लिए करीब 20 छात्रों को नामित किया गया और इनमें से प्रत्येक पांच हजार डॉलर की छात्रव‍ृति भी दी गई। इस आशय की जानकारी इंडियावेस्ट डॉट कॉम पर दी गई है।

छात्रवृत्तियों के अलावा, प्रत्येक छात्र को राष्ट्रपति के साथ नाश्ता कराया गया। यह सम्मान अमेरिकन एसोसिएशन ऑफ कम्य‍ुनिटी कॉलेज्स के वार्षिक सम्मेलन के दौरान रखा गया था। शीतल सिंह इलिनॉयस में ओकटन सामुदायिक कॉलेज की छात्रा हैं।
ओकटन कम्युनिटी कॉलेज की ओर से जारी एक प्रेस रिलीज में कहा गया कि देश के शीर्ष कम्युनिटी कॉलेज्स के छात्र और राज्य के कॉलेज छात्रों में से एक का अनुभव निजी तौर पर अच्छे रहा। हमें बताया गया कि ' हमने कहां से शुरू किया और आज मैं कहां हूं। वास्तव में, मैंने इसकी कल्पना भी नहीं की थी।'

सिंह ओकटन्स'स सोसायटी ऑफ वीमन इंजीनियर्स की संस्थापक अध्यक्षा हैं और उन्होंने एक सरकारी छात्र के तौर पर काम भी किया। वे पहली पीढ़ी की छात्रा रही हैं। ऑक्टन्स में अपनी डिग्री हासिल करने के बाद वे देश में साइबर सिक्यूरिटी के चार वर्षीय कोर्स में भाग लेंगी।
उन्होंने कहा कि मेरे सपनों को साकार करने और बाधाओं में अपनी प्रेरणा ने आगे बढ़ाया। सुश्री सिंह ने कहा कि मैं अपने पीछे एक विरासत छोड़ जाना चाहती हूं जोकि भावी पीढि़यों के लिए सहायक का काम करे। यह प्रोग्राम फॉलेट हायर एजूकेशन ग्रुप द्वारा प्रायोजित किया गया था जिसमें अमेरिकन एसोशिएशन ऑफ कम्युनिटी कॉलेज्स ने भी सहयोग दिया।


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

दुर्घटनाएं अमावस्या और पूर्णिमा पर ही क्यों होती है? आइए ...

दुर्घटनाएं अमावस्या और पूर्णिमा पर ही क्यों होती है? आइए जानते हैं यह रहस्य-
पूर्णिमा के दिन मोहक दिखने वाला और अमावस्या पर रात में छुप जाने वाला चांद अनिष्टकारी होता ...

क्या आपका बच्चा भी अंगूठा चूसता है? तो हो जाएं सावधान, जान ...

क्या आपका बच्चा भी अंगूठा चूसता है? तो हो जाएं सावधान, जान लें नुकसान
शायद ऐसा कोई व्यक्ति नहीं होगा, जिसने किसी बच्चे को अंगूठा चूसते हुए कभी न देखा हो। अक्सर ...

यही है वह मौसम जब शरीर का बदलता है तापमान, रहें सावधान, ...

यही है वह मौसम जब शरीर का बदलता है तापमान, रहें सावधान, जानें वजह और बचाव के उपाय
मौसम आ गया है कि आपको चाहे जब लगेगा हल्का बुखार। तो क्या घबराने की कोई बात है? जी नहीं, ...

प्रेशर कुकर में नहीं कड़ाही में पकाएं खाना, जानिए क्यों...

प्रेशर कुकर में नहीं कड़ाही में पकाएं खाना, जानिए क्यों...
अगर आप से पूछा जाए कि प्रेशर कुकर में या कड़ाही खाना बनाना बेहतर है तो आप तुरंत प्रेशर ...

मलाईदार नारियल क्रश, सेहत के यह 8 फायदे पढ़कर रह जाएंगे दंग

मलाईदार नारियल क्रश, सेहत के यह 8 फायदे पढ़कर रह जाएंगे दंग
आजकल मार्केट में नारियल पानी से ज्यादा नारियल क्रश को पसंद किया जा रहा है। इसकी बड़ी वजह ...

दूषित सोच से पीड़ित एक प्रसिद्ध भारतीय अर्थशास्त्री

दूषित सोच से पीड़ित एक प्रसिद्ध भारतीय अर्थशास्त्री
पिछले सप्ताह विश्व प्रसिद्ध अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन ने मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों के ...

यदि पैरेंट्स के व्यवहार में हैं ये 4 बुरी आदतें तो आपके ...

यदि पैरेंट्स के व्यवहार में हैं ये 4 बुरी आदतें तो आपके बच्चे को बिगड़ने से कोई नहीं रोक सकता!
पैरेंट्स की कुछ ऐसी आदतें होती हैं, जो वे बच्चों को सुधारने, कुछ सिखाने-पढ़ाने और नियंत्रण ...

क्या आप भी संकोची हैं, अपना ही सामान मांग नहीं पाते हैं तो ...

क्या आप भी संकोची हैं, अपना ही सामान मांग नहीं पाते हैं तो यह एस्ट्रो टिप्स आपके लिए है
क्या आप भी संकोची हैं, अगर हां तो यह आलेख आपके लिए है...

कैंसर की रिस्क लेना अगर मंजूर है तो ही इन 7 सामान्य लक्षणों ...

कैंसर की रिस्क लेना अगर मंजूर है तो ही इन 7 सामान्य लक्षणों को नजरअंदाज करें, वरना हो सकती है बड़ी परेशानी
ये बीमारी भी ऐसे ही सामने नहीं आती। इसके भी लक्षण हैं जो आप और हम जैसे लोग अनदेखा करते ...

श्री गुरु पूर्णिमा : कैसे मनाएं घर में पर्व जब कोई गुरु ...

श्री गुरु पूर्णिमा : कैसे मनाएं घर में पर्व जब कोई गुरु नहीं हो...ग्रहण के कारण इस समय कर लें पूजन
वे लोग जिन्हें गुरु उपलब्ध नहीं है और साधना करना चाहते हैं उनका प्रतिशत समाज में अधिक है। ...