Widgets Magazine

सुशीला जयपाल बनीं ओरेगॉन में निर्वाचित पहली दक्षिण एशियाई महिला

वॉशिंगटन|

भारतीय मूल की की बहन को में
मल्टनोमा काउंटी के बोर्ड ऑफ कमिश्नर्स का सदस्य चुना गया है। अमेरिकी राज्य में इस पद के लिए चयनित होने वाली वे पहली दक्षिण एशियाई महिला बन गई हैं।

(55) ने 57 प्रतिशत मतों से मल्टनोमा काउंटी बोर्ड ऑफ कमिश्नर्स के डिस्ट्रिक्ट 2 सीट पर जीत दर्ज की। नतीजों की घोषणा बीती रात हुई। नतीजे घोषित होने के बाद प्रतिनिधि सभा की सदस्य प्रमिला जयपाल ने ट्वीट किया कि मेरी बहन सुशीला जयपाल ओरेगॉन में
निर्वाचित होने वाली पहली दक्षिण एशियाई महिला बन गई है। विविधता मायने रखती है।

पूर्व कॉर्पोरेट वकील और लंबे समय से समुदाय की कार्यकर्ता रहीं सुशीला ने कंस्ट्रक्शन कॉन्ट्रैक्टर शैरोन मैक्सवेल और 2 अन्य को शिकस्त दी। सुशीला ने मल्टनोमा काउंटी कमिश्नर लॉरेटा
स्मिथ का स्थान लिया है। राजनीति में नई आईं सुशीला उत्तर और पूर्वोत्तर पोर्टलैंड कमिश्नर्स सीट का प्रतिनिधित्व करेंगी।

अपनी बहन प्रमिला की तरह ही भारत में जन्मीं सुशीला 16 साल की उम्र में अमेरिका आई थीं। वर्ष 1983 में 20 साल की उम्र में उन्होंने स्वार्थमोर कॉलेज से अर्थशास्त्र में स्नातक की डिग्री
ली। अपने माता-पिता से मिलने के लिए वे बराबर भारत आती-जाती रहती हैं। (भाषा)


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :