लंदन में हुई जयपुर साहित्य उत्सव की शुरुआत

लंदन| पुनः संशोधित रविवार, 21 मई 2017 (21:42 IST)
लंदन। दक्षिण एशिया की साहित्यिक धरोहर, मौखिक एवं प्रदर्शन कला, पुस्तकों एवं विचारों, संवाद एवं वाद-विवाद की वैभवशाली प्रस्तुति के लिए रविवार से में जयपुर साहित्योत्सव (जेएलएफ) की शुरुआत हुई। ब्रिटेन-भारत संस्कृति वर्ष समारोह के तहत ब्रिटिश लाइब्रेरी हर साल आयोजित की जाने वाली की मेजबानी कर रही है। जेएलएफ में भारत, और अन्य देशों के कई जाने-माने लेखक और कलाकार भी शिरकत करेंगे।

उद्घाटन समारोह में 1960 के दशक में भारत में बीटल्स रॉक बैंड के तजुर्बे पर एक सत्र का आयोजन किया गया। फिल्मकार करण जौहर ने बॉलीवुड से अपील की कि जिसे पीछे छोड़ा जा चुका है, उसे फिर से वापस लाया जाना चाहिए।

ब्रिटेन में भारत के उच्चायुक्त यशवर्धन कुमार सिन्हा ने दुनिया की मशहूर लाइब्रेरी में दो दिवसीय साहित्योत्सव की कार्रवाईयों का उद्घाटन किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि उनके पिता थलसेना में अधिकारी थे और उन्होंने शोध कार्य किया था । उन्होंने कहा, भारतीय संस्कृति हमेशा सीमा से परे रही है और यह उत्सव उस परंपरा को भारत में और उसके बाहर जीवित रखता है। एक सत्र में जौहर ने हाल ही में आई अपनी आत्मकथा ‘ऐन अनसूटेबल बॉय’पर बात की।
(photo Courtesy : jaipurliteraturefestivalorg)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :