आठ वर्षीय भारतीय-अमेरिकी 'लड़की' का स्कूल पर मुकदमा

Last Updated: मंगलवार, 8 अगस्त 2017 (11:37 IST)

कैलिफोर्निया। एक आठ वर्षीय भारतीय अमेरिकी ट्रांसजेंडर 'लड़की' ने अपने स्कूल पर मुकदमा दायर कर दिया है क्योंकि उसके माता-पिता ने योर्बा लिंडा, कैलिफोर्निया के हेरिटेज ओक प्राइवेट एजुकेशन के खिलाफ मुकदमा दायर किया है क्योंकि स्कूल के प्रशासकों ने उनकी 'बेटी' के साथ भेदभाव किया है। उनका कहना है कि स्कूल प्रशासकों ने उनकी बेटी को एक लड़के की तरह परिचित कराया है।

न‍िकोल 'निक्की' ब्रार की मां प्रिया शाह ने कहा, ' यह बुनियादी समानता की गरिमा के खिलाफ भेदभाव के खिलाफ लड़ाई है। यह हमारे परिवार और उन सभी परिवारों के लिए लड़ाई है, उस समाज के लिए लड़ाई और उन मूल्यों के लिए लड़ाई है जोकि हमें एकजुट बनाते हैं। और वे बातें जोकि हमें भिन्न या अलग बनाती हैं।' एक बयान में उन्होंने कहा कि ' मैं उसके साहस से अचंभित हूं जिसने निक्की को जो वह है, उसके लिए खड़ी हुई हैं, हालांकि इस तथ्य के बावजूद कि वह स्कूल और समाज से जो संदेश प्राप्त कर रही थी वे उसके खिलाफ थे।'

प्रिया शाह ने कहा कि 'अपनी वास्तविक पहचान के लिए लड़ाई का उसने जो साहस दिखाया हैं, मैं भी उससे भावुक हो गई हूं।' इस मामले में निक्की के पिता जसप्रीत‍ ब्रार का कहना है कि ' हम निक्की की उम्मीदों और सपनों को कुचले जाते नहीं देख सकते हैं क्योंकि कुछ वयस्कों ने उसे जो है, वह स्वीकार नहीं किया है।' निक्की के पिता का यह बयान उस पब्लिक काउंसेल लॉ फर्म ने जारी किया है, जोकि इस मामले में परिवार का प्रतिनिधित्व कर रही है। इस आशय का समाचार इंडिया-वेस्ट डॉट कॉम की स्टाफ रिपोर्टर सुनीता सोहराबजी ने दिया है।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :