प्रवासी कविता : जनतंत्र की अमूल्य वस्तु



- चन्द्रेश प्रकाश (
Boston, USA)
ले लिया नोट दे दिया वोट
पी ली दारू हो गए मस्त
चुन लिए महान पूजनीय नेता
शुरू हुई फिर पंचवर्षीय परियोजना।

महंगाई नहीं थम रही
मजदूरी कम पड़ रही
तनख्वाह नहीं बढ़ रही
मुश्किल जीवन कट रहा।

ऐसे में-
नोट कहां से आते
नेताओं के पास?
इन दानवीर नेताओं पर
क्या खुदा है मेहरबान?

दुनिया है लेन-देन की
बिन पैसे के काम न कोई हो रहा
हर सरकारी काम पैसे मांग रहा
हर सरकारी अफसर पैसे खा रहा
कुछ सरकारी अफसर वसूली कर रहे।
आप पैसे खिला रहे हो
एक बार नहीं कई बार
फिर नेता क्यूं निश्चिंत हैं
पैसे खिला के एक बार?

वो एक बार खिला के खुश हैं
आप बार-बार खिला के दुखी हैं
क्यूं ये पांसा पलटता नहीं?

क्यूं ऐसा होता नहीं
पैसे एक बार खिलाएं हम
पांच साल निश्चिंत रहें हम
बिन पैसों के काम होएं सरकारी।

इन बचे पैसों से जिताएं हम
अपने बीच के कर्मठ नेता को
क्या ऐसा संभव है?
या कोई कल्पना है?
बात वहीं फिर आती है
बिन पैसों के काम कोई होता नहीं
पैसे देना आपकी मजबूरी है
पर क्या पैसे लेना मजबूरी है?

अगर नहीं लेंगे इनसे नोट
क्या फिर भी देंगे इनको वोट?
हाथ जोड़कर आता नेता
वोट की भीख मांगता नेता
मजबूरी उसकी या आपकी है?

पांच साल तक जो नेता
आपको कहीं दिखता नहीं
आपको कभी पूछता नहीं
वही नेता वोट के लिए
कौन सा काम करता नहीं?
बड़ी-बड़ी बातें बनाता नेता
मीठी-मीठी बातें करता नेता
दारू और पैसे लुटाता नेता
बड़ा हमदर्द बनता नेता
डराता-धमकाता नेता
असल में
वजूद की लड़ाई लड़ता नेता
क्या उसकी कमजोरी है?
क्या आपकी शक्ति है?

वोट न मिलने पर
बड़े से बड़ा नेता
खत्म हो जाता है
वोट मिलने पर
आपका अपना
नेता बन सकता है।
की अमूल्य वस्तु
वोट आपके हाथ में है
इसकी जिम्मेदारी को समझें
इसकी जिम्मेदारी को संभालें।

डर-भय से कोई
दारू-पैसों पर कोई
अपनी इज्जत लुटाता नहीं
आपका वोट आपकी इज्जत है
वोट सोच-समझकर दें
नेता बदलें, देश बदलें
बच्चों का भविष्य उज्ज्वल करें।

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

बस,एक छोटा सा 'आभार' कम कर देगा जीवन के कई भार

बस,एक छोटा सा 'आभार' कम कर देगा जीवन के कई भार
आभार व्यक्त तो कीजिए। फिर देखिए, उसकी सुगंध कैसे आपके रिश्तों को अद्भुत स्नेह से सींचती ...

अपने लिए भी वक्त निकालें, यह वक्त का तकाजा है

अपने लिए भी वक्त निकालें, यह वक्त का तकाजा है
थोड़ा समय अपने शौक को देंगे तो आपको अपना आराम और मनोरंजन पूर्ण महसूस होगा।

जरा चेक करें कहीं आपकी कोहनी भी तो कालापन लिए हुए नहीं?

जरा चेक करें कहीं आपकी कोहनी भी तो कालापन लिए हुए नहीं?
भले ही आप चेहरे से कितनी ही खूबसूरत क्यों न हों, देखने वालों की नजर कुछ ही मिनटों में ...

5 मिनट में चमकती स्किन चाहिए तो इसे जरूर पढ़ें

5 मिनट में चमकती स्किन चाहिए तो इसे जरूर पढ़ें
जिस तरह बालों को सॉफ्ट और शाइनी बनाने के लिए आप हेयर कंडीशनिंग करते हैं, उसी तरह से त्वचा ...

पेट फूला-फूला रहता है तुंरत बदलिए लाइफ स्टाइल, पढ़ें 10 काम ...

पेट फूला-फूला रहता है तुंरत बदलिए लाइफ स्टाइल, पढ़ें 10 काम की बातें
लगातार बैठे रहने और कम मेहनत करने वालों का पेट बाहर आ जाता है लेकिन यह जरूरी नहीं है... ...

ब्रेस्ट फीडिंग के समय क्या आपके दूध के साथ भी निकलता है

ब्रेस्ट फीडिंग के समय क्या आपके दूध के साथ भी निकलता है खून?
सभी जानते हैं कि बच्चे के लिए मां का दूध किसी वरदान से कम नहीं होता है। इसमें वे सभी पोषक ...

पारंपरिक तरीके से मावे के टेस्टी गुलाब जामुन बनाने की सरल ...

पारंपरिक तरीके से मावे के टेस्टी गुलाब जामुन बनाने की सरल विधि यहां पढ़ें...
सबसे पहले मावे को किसनी से कद्दूकस कर लें। अब उसमें मैदा, अरारोट मिला लें।

निपाह वायरस क्या है?

निपाह वायरस क्या है?
यह चमगादड़ों के लार से फैलता है, इसलिए लोगों को इससे बचना चाहिए। निपाह वायरस से ग्रस्त ...

पढ़िए, लड़के क्यों अब खुद से बड़ी उम्र की लड़कियों को पसंद करने ...

पढ़िए, लड़के क्यों अब खुद से बड़ी उम्र की लड़कियों को पसंद करने लगे हैं...
नए जमाने के साथ लड़कों की सोच में भी काफी बदलाव आए हैं। अब लड़के कमसिन उम्र की, कम अनुभवी व ...

निपाह वायरस को भी नष्ट करेगा गुणकारी कड़वा चिरायता

निपाह वायरस को भी नष्ट करेगा गुणकारी कड़वा चिरायता
इन दिनों निपाह वायरस की सूचना ने सबको डरा रखा है। इस वायरस को भी नष्ट या कमजोर किया जा ...