मुख पृष्ठ > खबर-संसार > समाचार > राष्ट्रीय > 'सविता भाभी' पर भारत में प्रतिबंध
सुझाव/प्रतिक्रियामित्र को भेजिएयह पेज प्रिंट करें
 
'सविता भाभी' पर भारत में प्रतिबंध
सरकार ने अश्लील कार्टून वेबसाइट 'सविताभाभी डॉट कॉम' पर प्रतिबंध लगा दिया है।

इस वेबसाइट के संचालकों ने इस वेबसाइट को बचाने के लिए अभियान चलाया है और इसके लिए 'सेवसविता डॉट कॉम' नामक वेबसाइट शुरू करते हुए लोगों से इस अभियान में जुड़ने की अपील की है। सविताभाभी डॉट कॉम पर प्रसारित एक संदेश में कहा गया है कि भारतीय इंटरनेट सेवा प्रदाताओं ने इस वेबसाइट को ब्लॉक कर दिया है।

खबरों के अनुसार सूचना और प्रसारण प्रौद्योगिकी मंत्रालय के दूरसंचार विभाग ने तीन जून को सभी भारतीय इंटरनेट सेवा प्रदाताओं को पत्र भेजकर इस साइट को ब्लॉक करने को कहा था।

सूचना प्रौद्योगिकी कानून के तहत सरकार को सभी इलेक्ट्रॉनिक संचार पर निगरानी रखने तथा आपत्तिजनक सामग्रियों के संचार को प्रतिबंधित करने का अधिकार है। आपत्तिजनक वेबसाइटों को ब्लॉक करने की जिम्मेदारी कंट्रोलर ऑफ सर्टिफाइंग अथॉरिटीज (सीएसए) को सौंपी गई है।

सीएसए के सूत्रों के अनुसार इस एजेंसी की कई सामग्रियाँ अस्वीकार्य हैं। सीएसए को इस वेबसाइट के खिलाफ कई शिकायतें मिली थीं और सीआईए ने इन शिकायतों के आधार पर सूचना प्रौद्योगिकी कानून की संबंधित धाराओं के आधार पर इस वेबसाइट को ब्लॉक कर दिया है।

सविताभाभी डॉट कॉम की शुरुआत मार्च 2008 में की गई थी। सविताभाभी के संचालकों ने मीडियाकर्मियों को मेल भेजकर कहा है कि हम अपने वकीलों से बात कर रहे हैं और साथ ही साथ अन्य विकल्प की तलाश भी कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि यह वेबसाइट भारत की सुरक्षा के लिए कोई खतरा नहीं उत्पन्न करती है और न ही यह गैर कानूनी है, ऐसे में इस वेबसाइट को प्रतिबंधित किया जाना अंतरराष्ट्रीय संधि का उल्लंघन है। हालाँकि हम कानूनी उपायों पर विचार कर रहे हैं।

इस वेबसाइट पर कार्टूनों के जरिये बिंदास किस्म की भारतीय घरेलू महिला की कहानियाँ प्रसारित की जाती हैं। यह वेबसाइट युवाओं और वयस्कों में कितनी लोकप्रिय हो गया है, इसका अंदाजा इस बात से चलता है कि हर माह इसे करीब छह करोड़ लोग देखते हैं। एलेक्साडॉट कॉम के अनुसार यह वेबसाइट सबसे अधिक देखी जाने वाली 82वीं वेबसाइट है।
संबंधित जानकारी खोजें
और भी
शाइनी आहूजा की मुश्किल बढ़ी
कार्य मंत्रणा समिति में प्रणब, सुषमा
समलैंगिकता पर जल्दबाजी नहीं-मोइली
मायावती की मूर्तियों पर सुप्रीम कोर्ट का नोटिस
कपिल सिब्बल अंतरराष्ट्रीय असेंबली में
दिल्ली में विमान की इमरजेंसी लैंडिंग